नवंबर में थोक महंगाई 9 महीनों के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंची

थोक महंगाई दर अक्टूबर में लगातार तीसरे महीने बढ़कर 1.48 फीसदी हो गई थी

सांकेतिक तस्वीर
i

मैन्युफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स के महंगे होने के चलते थोक कीमतों पर आधारित महंगाई दर नवंबर में 1.55 फीसदी तक बढ़कर नौ महीनों के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गई. हालांकि, इस दौरान खाने की चीजों की महंगाई दर में कुछ नरमी आई.

नवबंर में थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) आधारित थोक महंगाई दर फरवरी के बाद से सबसे ज्यादा है, जब यह 2.26 फीसदी थी.  

खाने-पीने की चीजों की थोक कीमत नवंबर में 3.94 फीसदी बढ़ी, जबकि इससे पिछले महीने यह आंकड़ा 6.37 फीसदी था. इस दौरान सब्जियों और आलू की कीमतों में तेजी जारी रही. गैर-खाद्य चीजों की महंगाई दर भी 8.43 फीसदी के ऊंचे स्तर पर बनी रही. नवंबर में ईंधन और बिजली की महंगाई दर माइनस 9.87 फीसदी रही.

बता दें कि थोक महंगाई दर अक्टूबर में लगातार तीसरे महीने बढ़कर 1.48 फीसदी हो गई थी. उससे पहले सितंबर में यह 1.32 फीसदी दर्ज की गई थी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!