भारत ने AC इंपोर्ट पर लगाया बैन, चीन से होता था सबसे ज्यादा आयात

सरकार ने ये फैसला गैर जरूरी सामनों के इंपोर्ट को घटाने के लिए लिया है.

Published
बिजनेस
2 min read
सरकार ने ये फैसला  गैर जरूरी सामनों के इंपोर्ट को घटाने के लिए लिया है.
i

भारत सरकार ने 15 अक्टूबर को एक और अहम फैसला लेते हुए दूसरे देशों से इंपोर्ट (Import) किए जाने वाले एयर कंडीशंस पर बैन लगा दिया है. सिर्फ उन्हीं एयर कंडीशंस (air conditioner) के इंपोर्ट पर ही बैन होगा जो रेफ्रिजरेटर के साथ आते हैं. सरकार ने ये फैसला घरेलू मैन्यूफैक्चरिंग को बढ़ावा देने के लिए और गैर जरूरी सामनों के इंपोर्ट को घटाने के लिए लिया है.

डायरेक्टर जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड (DGFT) ने 15 अक्टूबर को जारी किए अपने नोटिफिकेशन में लिखा- रेफ्रिजरेटर्स के साथ आने वाले एयरकंडीशंस के इंपोर्ट पर दी गई छूट को अब हटा लिया गया है.'

सरकार ने इसके पहले भी अपने इंपोर्ट को कम करने के लिए इस तरह के प्रतिबंध लगाए हैं उस लिस्ट में ये नया आइटम शामिल हो गया है. इंपोर्ट पर पाबंदी लगाने से सरकार का इंपोर्ट बिल कम तो होगा ही दूसरी तरफ सरकार अपनी आत्मनिर्भर भारत नीति के तहत घरेलू मैन्यूफैक्चरिंग को भी बढ़ावा देना चाहती है.

चीन से होते हैं सबसे ज्यादा एयर कंडीशंस इंपोर्ट

बता दें कि भारत में सबसे ज्यादा एयर कंडीशंस चीन से इंपोर्ट होते हैं. चीन के अलावा थाइलैंड, सिंगापुर, हॉन्ग-कॉन्ग, वियतनाम से भी एयर कंडीशंस इंपोर्ट होते हैं.

कई वस्तुओं के इंपोर्ट पर बैन लगा चुकी है सरकार

इसके पहले सरकार ने कार, बस, लॉरी में इस्तेमाल होने वाले न्यूमेटिक टायर के इंपोर्ट पर भी रोक लगाई थी. इसके अलावा टेलीविजन से लेकर डिफेंस उपकरणों तक के इंपोर्ट तक पर बैन लगाया गया है.

बता दें कि चीन के साथ सीमा विवाद बढ़ने के बाद भी देश में चीनी वस्तुओं के खिलाफ आंदोलन देखने को मिले थे. सरकार ने भी चीनी थोक के भाव में चीनी मोबाइल एप पर बैन लगाकर ये संदेश दिया वो चीन के मोर्चे पर सख्त है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!