जकरबर्ग से चर्चा में अंबानी:FB-Jio साझेदारी से छोटे कारोबार को मदद

अंबानी भारत में पहली बार आयोजित हो रहे फेसबुक फ्यूल इवेंट में फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग के साथ बातचीत कर रहे थे.

Published
जकरबर्ग से चर्चा में अंबानी:FB-Jio साझेदारी से छोटे व्यवसायों मदद
i

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के अध्यक्ष मुकेश अंबानी का कहना है कि जियो और फेसबुक की साझेदारी भारत, भारतीयों और छोटे भारतीय व्यवसायों के लिए बहुत अच्छी है. अंबानी भारत में पहली बार आयोजित हो रहे फेसबुक फ्यूल इवेंट में फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग के साथ बातचीत कर रहे थे.

अंबानी ने क्या-क्या कहा?

अंबानी ने कहा, "मुझे रिकॉर्ड पर जाने में कोई हिचकिचाहट नहीं है कि यह आपका निवेश है, जो बॉल रोलिंग को सेट करता है. न केवल जियो के लिए, बल्कि भारतीय एफडीआई के लिए भी, जो अपने इतिहास में सबसे बड़ी रही है. जियो और फेसबुक के बीच के बीच हमारी साझेदारी, वास्तव में प्रदर्शित करेगी कि यह भारत, भारतीयों और छोटे भारतीय व्यवसायों के लिए बहुत अच्छी है."

अंबानी ने कहा, "एक साथ हम अब हमारे ग्राहकों और छोटे व्यवसायों के लिए एक मूल्य सृजन मंच बन गए हैं."

लाखों नए रोजगार पैदा होंगे: मुकेश अंबानी

मुकेश अंबानी ने फेसबुक के इवेंट फेसबुक फ्यूल फॉर इंडिया का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि यह इवेंट भारत के विकास की गाड़ी को बहुत आगे ले जाने में ईंधन का काम करेगा. भारत के विकास को बढ़ावा देने वाला सबसे शक्तिशाली विचार यह है कि देश का युवा नए स्टार्टअप और नए आइडिया पर काम करें. युवा आपसे काफी प्ररित होते हैं, जब वे देखते हैं कि महज 14 सालों में फेसबुक डिजिटल रूप से भारत का चेहरा बन गया है.

उन्होंने कहा कि जियो मार्ट रिटेल छोटे शहरों, कस्बों के छोटे दुकानदारों को जोड़ेगा और इससे लाखों नए रोजगार पैदा होंगे. अंबानी ने कहा कि जियो देश के सभी स्कूलों को जोड़ने पर भी काम कर रहा है.

उन्होंने कहा कि भारत का मध्यवर्ग, जो देश के कुल परिवारों का करीब 50 प्रतिशत है, प्रति वर्ष तीन से चार प्रतिशत की दर से बढ़ेगा. अंबानी ने कहा कि उनका मानना है कि अगले दो दशकों में भारत दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में शामिल होगा. उन्होंने कहा कि इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि देश एक प्रमुख डिजिटल समाज बन जाएगा, जिसे युवा चलाएंगे.

उन्होंने कहा, "हमारी प्रति व्यक्ति आय 1,800 से 2,000 अमेरिकी डॉलर से बढ़कर 5,000 अमेरिकी डॉलर हो जाएगी."

अंबानी ने कहा कि फेसबुक और दुनिया की कई दूसरी कंपनियों और उद्यमियों के पास भारत में कारोबार करने, इस आर्थिक और सामाजिक परिवर्तन का हिस्सा बनने का एक सुनहरा अवसर है.

अपने संबोधन में अंबानी ने कहा कि देश में डिजिटल क्रांति की संभावनाओं पर व्यापक चर्चा हो रही है. संकट में नई संभावनाओं का रास्ता निकलता है. देश मे कोविड महामारी ने कई संभावनाओं के रास्ते खोले हैं.

उन्होंने कहा, "मैं वास्तव में भारत को एक प्रमुख डिजिटल समाज के रूप में तेजी से बदलता देख रहा हूं."

(इनपुट: IANS)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!