नीतीश को संतुष्ट करने के लिए मेरे खिलाफ भी बोल सकते हैं PM: चिराग

चिराग पासवान ने एक बार फिर नीतीश कुमार पर निशाना साधा

Published
बिहार चुनाव 2020
2 min read
चिराग पासवान
i

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) प्रमुख चिराग पासवान ने एक बार फिर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. उन्होंने रविवार को ट्वीट कर कहा, ''नीतीश कुमार जी ने प्रचार का पूरा जोर मेरे और प्रधानमंत्री जी के बीच दूरी दिखाने में लगा रखा है. बांटो और राज करो की नीति में माहिर मुख्यमंत्री जी हर रोज मेरे और बीजेपी के बीच दूरी बनाने का प्रयास कर रहे हैं.''

अगले ट्वीट में चिराग ने कहा है, ''मेरे और प्रधानमंत्री जी के रिश्ते कैसे हैं, मुझे यह प्रदर्शन करने की जरूरत नहीं है. पापा जब अस्पताल में थे तब से लेकर उनकी अंतिम यात्रा तक उन्होंने मेरे लिए जो कुछ किया उसे मैं कभी नहीं भूल सकता.''

एलजेपी प्रमुख ने कहा है, ‘’मैं नहीं चाहता कि मेरी वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी किसी धर्मसंकट में पड़ें. वह अपना गठबंधन धर्म निभाएं. आदरणीय मौजूदा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी को संतुष्ट करने के लिए मेरे खिलाफ भी कुछ कहना पड़े तो निसंकोच कहें.’’

इसके अलावा चिराग ने कहा है कि नीतीश को बीजेपी के साथियों का धन्यवाद करना चाहिए कि वे मुख्यमंत्री के खिलाफ इतना आक्रोश होने के बावजूद गठबंधन धर्म निभा रहे हैं और हर दिन नीतीश को प्रमाणपत्र देते हैं कि वे चिराग के साथ नहीं हैं.

बिहार के आगामी विधानसभा चुनाव में एलजेपी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) से अलग हटकर चुनाव लड़ रही है. इस बीच, एलजेपी लगातार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जेडीयू पर निशाना साध रही है, लेकिन बीजेपी को लेकर उसका रुख ऐसा नहीं दिख रहा. ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि कहीं बीजेपी और एलजेपी के बीच पर्दे के पीछे कोई साठगांठ तो नहीं है. इन सवालों के बीच बीजेपी के नेता एक-एक कर एलजेपी को लेकर रुख साफ कर रहे हैं.

इसी क्रम में पटना में शनिवार को बीजेपी के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव ने कहा, "बहुत स्पष्ट है, एलजेपी हमारे गठबंधन का हिस्सा नहीं है और हम चिराग पासवान को बताना चाहते हैं कि उन्हें किसी भ्रम में नहीं रहना चाहिए. बीजेपी-जेडीयू एक साथ चुनाव लड़ रही हैं और नीतीश कुमार हमारे मुख्यमंत्री उम्मीदवार हैं."

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!