बॉलीवुड की वो सदाबहार बहनें, जिनके बिना फिल्म नहीं होती थी पूरी
बॉलीवुड की वो सदाबहार बहनें, जिनके बिना फिल्म नहीं होती थी पूरी
बॉलीवुड की वो सदाबहार बहनें, जिनके बिना फिल्म नहीं होती थी पूरी(फोटो: क्विंट हिंदी)

बॉलीवुड की वो सदाबहार बहनें, जिनके बिना फिल्म नहीं होती थी पूरी

बॉलीवुड की फिल्मों का बहनों से पुराना नाता है, एक दौर ऐसा था, जब बॉलीवुड की फिल्मों की अहम किरदार होती थीं बहनें. बिना बहनों के फिल्म की कहानी ही अधूरी रहती थी. बहनों के इर्द-गिर्द ही फिल्म की कहानी बुनी जाती थी. हीरो कभी अपनी बहन के साथ हुई नाइंसाफी का बदला लेने के लिए बड़े-बड़े विलेन से भिड़ जाता था, तो कभी अपनी बहन की शादी कराने के लिए मेहनत-मजदूरी करता था, लेकिन वक्त के साथ-साथ धीरे-धीरे बहनों की रोल बॉलीवुड से गायब होने लगा.

आज के दौर की फिल्मों में बहनें कम नजर आतीं हैं. इस रक्षा बंधन पर हम याद करते हैं, उन फिल्मी बहनों को जो 70 और 80 के दशक की फिल्मों की जान हुआ करती थीं.

Loading...

कुमुद छुगानी (रेशम की डोरी)

(स्क्रीनशॉट: यूट्यूब) 

‘रेशम की डोरी’ फिल्म भाई-बहन के प्यारे रिश्ते पर ही आधारित है. अजीत (धर्मेंद्र) ने अपनी बहन रज्जो (कुमुद छुगानी) के लिए बड़े-बड़े सपने देखे हैं. वो अपनी बहन की शादी एक बड़े खानदान में कराना चाहता है, लेकिन चीजें तब बदल जाती हैं, जब दोनों की जिंदगी में एक हादसा होता है. फिल्म का गाना ‘बहना ने भाई की कलाई पर प्यार बांधा है’ इस फिल्म का एक पॉपुलर सॉन्ग है. जो हर राखी पर आप जरूर सुनते होंगे.

फरीदा जलाल

(स्क्रीनशॉट: यूट्यूब) 

फरीदा जलाल एक ऐसी एक्ट्रेस थीं, जो 70 के दशक में ज्यादातर फिल्मों में हीरो की बहन का किरदार निभाया करती थीं. फिल्म ‘चंबल की कसम’ में भी उन्होंने बहन की किरदार निभाया था.डकैतों पर बनी इस फिल्म में भाई और बहन का रिश्ता भी काफी अहम था. फरीदा जलाल ने इस फिल्म में राजकुमार की बहन का रोल निभाया था. फिल्म का गाना ‘चंदा रे मेरे भइया से कहना’ काफी हिट भी हुआ था.

ये भी पढ़ें : रक्षाबंधन पर घर से दूर हैं ये लोग, इनके और आपके लिए कुछ खास आइडिया

फरीदा जलाल (धर्मात्मा)

(स्क्रीनशॉट: यूट्यूब) 

इस फिल्म में फरीदा जलाल, फिरोज खान की बहन बनी थीं. ‘धर्मात्मा’ में दिखाया गया है कि कैसे रणबीर (फिरोज खान) अपनी बहन मोना (फरीदा जलाल) की मौत को बदला लेता है. फिल्म में रक्षाबंधन का भी एक सीन है.

प्रीति सप्रू (अर्पण)

(स्क्रीनशॉट: यूट्यूब) 

'अर्पण' फिल्म में भले जीतेंद्र, रीना रॉय और परवीन बाबी का रोल बड़ा हो, लेकिन कहानी में पूरा ट्विस्ट प्रीति सप्रू की वजह से आता है. प्रीति सप्रू ने फिल्म में जीतेंद्र की बहन का रोल निभाया था विनी की वजह ही फिल्म के हीरो जीतेंद्र की लव स्टोरी ट्रैजिक टर्न ले लेती है.

नाजिमा (अनजाना)

(स्क्रीनशॉट: यूट्यूब) 

ये फिल्म राजेंद्र कुमार और बबीता की लव स्टोरी पर बेस्ड थी, लेकिन फिल्म में राजेंद्र कुमार की बहन के रोल में खूबसूरत नाजिमा ने भी सबका दिल जीत लिया. फिल्म का ‘हम बहनों के लिए’ आज भी राखी के मौके पर हर घर में बजता है.

ये भी पढ़ें : Raksha Bandhan: इस रक्षाबंधन पर भाई या बहन को क्‍या दें गिफ्ट

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our बॉलीवुड section for more stories.

    Loading...