JNU हिंसा पर कंगना बोलीं-राष्ट्रीय मुद्दा न बनाएं, वो इस लायक नहीं

कंगना रनौत ने कहा कि ये समझा जा सकता है कि यूनिवर्सिटी में दो पक्ष हैं

Published
सितारे
2 min read
कंगना रनौत ने कहा कि ये समझा जा सकता है कि यूनिवर्सिटी में दो पक्ष हैं
i

कई बॉलीवुड सेलेब्रिटीज के बाद अब कंगना रनौत ने आखिरकार दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हुई हिंसा के मामले में अपने विचार रखते हुए कहा कि घटना को राष्ट्रीय और राजनीतिक का मुद्दा नहीं बनाना चाहिए.

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, अपनी आने वाली फिल्म 'पंगा' के प्रमोशन के मौके पर मीडिया से बात करते हुए कंगना ने कहा, ‘जेएनयू में छात्रों पर हुई हिंसा की वर्तमान में जांच चल रही है. यह समझा जाता है कि विश्वविद्यालय में दो पक्ष हैं.’

कंगना ने चंडीगढ़ में अपने कॉलेज के दिनों में हुए गैंगवॉर को याद करते हुए कहा, "।"

‘कॉलेज समय में गैंगवॉर (दो गुटों के बीच लड़ाई) होना आम बात है. मैं हॉस्टल में रहती थी, लड़कों का होस्टल भी बगल में था. वहां लोगों का दिन दहाड़े पीछा किया गया और उनकी हत्या कर दी गई. एक लड़का एक बार हमारे हॉस्टल में कूद गया था और भीड़ द्वारा मारे जाने वाला था, लेकिन हमारे हॉस्टल प्रबंधक ने उसे बचा लिया.’

उन्होंने आगे कहा, ‘पुलिस को चाहिए कि वह अपराधियों को हिरासत में ले और प्रत्येक को चार थप्पड़ लगाए. इस प्रकार के लोग हर जगह मिलते हैं, हर गली और कॉलेज में. इसे राष्ट्रीय मुद्दा नहीं बनाना चाहिए, क्योंकि वे इस लायक ही नहीं हैं.’

5 जनवरी को हुई थी हिंसा

दिल्ली की जवाहरलाल यूनिवर्सिटी में 5 जनवरी की शाम नकाब पहने कुछ लोगों ने हॉस्टल में छात्रों पर हमला किया और तोड़फोड़ की. आलिया भट्ट, अनुराग कश्यप, स्वरा भास्कर, सोनम कपूर, रिचा चड्ढा, सयानी गुप्ता, अनुभव सिन्हा, जीशान आयुब जैसे कई सितारों ने छात्रों पर हुए हमले की निंदा की है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!