‘मलाल’: मीजान-शर्मिन न होते तो वाकई सिर्फ मलाल ही होता
शर्मिन, संजय लीला भंसाली की भांजी हैं और मीजान, जावेद जाफरी के बेटे हैं
शर्मिन, संजय लीला भंसाली की भांजी हैं और मीजान, जावेद जाफरी के बेटे हैं(फोटो: इंस्टाग्राम/मीजान)

‘मलाल’: मीजान-शर्मिन न होते तो वाकई सिर्फ मलाल ही होता

जिस रेट से बॉलीवुड हमें नए चेहरों से रूबरू करा रहा है, वो काबिले तारीफ है, लेकिन सोचिए कि कितना अच्छा होता अगर इन नए चेहरों के साथ अच्छी स्क्रिप्ट और कहानी भी होती?

संजय लीला भंसाली के प्रोडक्शन हाउस की लेटेस्ट फिल्म 'मलाल' से उनकी भांजी शर्मिन सहगल और जावेद जाफरी के बेटे मीजान ने बॉलीवुड में डेब्यू किया है. चेहरे नए लेकिन कहानी हालांकि वही पुरानी है!

मंगेश हडावले के डायरेक्शन में बनी ये फिल्म, तमिल की हिट फिल्म '7जी रेनबो कॉलोनी' का रीमेक है.

यहां ‘मलाल’ बस इसी बात का है कि सभी चीजें वही रिपीट होती हैं! ‘लड़का-लड़की एक ही चॉल में रहते हैं, मिलते हैं और प्यार हो जाता है.’

लड़की स्मार्ट है और एक अलग कल्चरल और इकनॉमिक बैकग्राउंड से आती है. वहीं लड़का, जिसे बात-बात पर गुस्सा आ जाता है.

फिल्म की कहानी 1998 के मुंबई के बैकड्रॉप पर बनी है. शिवा (मीजान) अक्सर अपने दोस्तों के साथ आवारगर्दी करते देखा जा सकता है. उसका टैलेंट, क्रिकेट खेलना है. हालांकि फिल्म में इस किस्से को जल्द ही भुला दिया जाता है जब एक स्थानीय नेता शिवा के गुस्से को देखते हुए उसे काम पर रखता है. काम? मुंबई से उत्तर भारतीयों को बाहर निकालना और उसे वापस मराठियों का बनाना.

फिर, इसे भी भुला सा दिया जाता है. ऐसा लगता है कि फिल्म में किसी को याद ही नहीं कि उसे अपनी चॉल से 'बाहरवालों' को निकालने का काम दिया गया था.

जब वो आस्था त्रिपाठी (शर्मिन) से प्यार करने लगता है, तो लगता है कि ये प्लॉट सुविधा के लिए उपयोग किया गया है.

सही बताएं तो फिल्म कई सब-प्लॉट की कभी न खत्म होने वाली एक गाथा है, जिसे शुरू किया गया और फिर उसकी इच्छा पर छोड़ दिया गया!

मीजान की एक्टिंग की बात करें तो वो कोशिश करते हैं, लेकिन उनकी वो 'मुंबई टपोरी स्टाइल' की डायलॉग डिलीवरी असली नहीं लगती. उनमें एक स्पार्क है, जिससे उन्हें दोबारा देखने का मन करता है.

मीजान और शर्मिन के बीच केमेस्ट्री है, जो 'मलाल' को ठीक-ठाक बनाती है.

ये भी पढ़ें : Spider-Man: स्टार्क की उम्मीदों पर खरा उतरने की कोशिश करता है पीटर

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our मूवी रिव्यू section for more stories.

क्विंट हिंदी के साथ रहे अपडेटड
सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर को और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में
Loading...
Loading...
    Loading...