The Fakir Of Venice: फरहान की फिल्म में देखने को ज्यादा कुछ नहीं
The Fakir Of Venice: फरहान की फिल्म में देखने को ज्यादा कुछ नहीं
(फोटो: The Quint/Arnica Kala)

Review: The Fakir Of Venice: फरहान की फिल्म में देखने को ज्यादा कुछ नहीं

'द फकीर ऑफ वेनिस' एक्टर के तौर पर फरहान अख्तर की डेब्यू फिल्म होने वाली थी, लेकिन भगवान की मर्जी के आगे किसकी चली है!

फिल्म आखिरकार 10 साल बाद रिलीज हो गई है. इस बीच, मुंबई और वेनिस में बहुत बदलाव आ गया है और हम फरहान को कई चैलेंजिग रोल करते हुए देख चुके हैं.

फरहान अख्तर ने आदि कॉन्ट्रैक्टर का रोल निभाया है, जो कि एक फिल्म प्रोडक्शन कॉर्डिनेटर है. आदि हमेशा अपने असाइनमेंट के बीच फंसा हुआ रहता है. पैसे कमाने के लिए वो सब करता है, शूट के लिए हाथियों को लाने से लेकर विदेशी फिल्ममेकर्स को बंदर स्मगल करने तक.

जब वेनिस का एक गैलरी मालिक एक ऐसे फकीर की डिमांड करता है, जो सिर से पांव तक रेत में खुद को दफ्न कर ले, तो आदि तुरंत उसे ढूंढने निकल जाता है. वाराणसी की गलियां छानने के बाद, आदि को मुंबई में एक मजदूर मिलता है, सत्तर (अनु कपूर). बहन के दबाव के बाद सत्तर आदि के साथ काम करने के लिए तैयार हो जाता है.

ये भी पढ़ें : प्रियंका चोपड़ा ने बताया, किसने खींची बेडरूम में ये फोटो

फिल्म में कमल सिद्धू को देखकर काफी अच्छा लगता है. कमल 90 के दशक में टीवी का पॉपुलर चहरा थीं. फिल्म में उन्होंने आदि की एक्स-गर्लफ्रेंड का रोल निभाया है

आदि और सत्तर अपने-अपने कारणों से इस मिशन का हिस्सा बनते हैं. कई बार आदि इंडिया छोड़ने की अपनी ख्वाहिश बताता है. वो इन पैसों से विदेश में पढ़ाई और घूमना चाहता है. सत्तर बताता है कि वो वेनिस इसलिए आया है ताकि अपनी बहन हमीदा की आर्थिक मदद कर सके.

फरहान अख्तर एक्टर के तौर पर अच्छे रहे हैं. ज्यादातर हिस्सों में वो बड़ी ही कुशलता से अलग-अलग इमोशन्स दिखाने में कामयाब रहे. अनु कपूर एक बेहतरीन कलाकार हैं. लड़ाई लड़ रहे और हारने की कगार पर पहुंच चुके एक व्यक्ति के तौर पर कपूर प्रभावी है लेकिन स्क्रीनप्ले शायद ही उनके सपोर्ट में है.

फिल्म के पुराने अनुभव के अलावा, बजट की दिक्कत भी साफ दिखाई देती है. वेनिस इतना सुस्त कभी नहीं लगा और वाराणसी उदास लगता है. इसके अलावा, फिल्म की कमजोर कहानी भी निराश करती है.

इस फिल्म को 5 में से 2 क्विंट!

ये भी पढ़ें : ‘सोन चिड़िया’ ट्रेलर: बागियों की बोली केवल बंदूक की गोली जानती है

(सबसे तेज अपडेट्स के लिए जुड़िए क्विंट हिंदी के WhatsApp या Telegram चैनल से)

Follow our मूवी रिव्यू section for more stories.

One in a Quintillion
सब्सक्राइब कीजिए
न्यूजलेटर
न्यूज और अन्य अपडेट्स

    वीडियो