सुशांत की दो बहनों के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का केस दर्ज

रिया की शिकायत में कहा गया है कि पर्चे में डिस्क्रिप्शन दिल्ली की ओपीडी का है,

Published
एंटरटेनमेंट
2 min read
सुशांत की दो बहनों के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का केस दर्ज

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह की मौत के केस में अब मुंबई पुलिस ने रिया की शिकायत पर सुशांत की दो बहनों प्रियंका और मीतू सिंह खिलाफ शिकायत दर्ज की है. इनके खिलाफ रिया ने खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप लगाया है . दोनों बहनों के अलावा दिल्ली के आरएमएल अस्पताल एक डॉक्टर के खिलाफ भी शिकायत दर्ज की गई है.

रिया ने आरोप लगाया है कि प्रियंका के कहने पर बिना सुशांत की जांच किए उन्हें डिप्रेशन की दवाएं दी गई थीं, जो कई तरह से कानून का उल्लंघन है और इन दवाओं के दिए जाने के पांच दिनों के बाद ही सुशांत की मौत हो गई.

मुंबई की बांद्रा पुलिस ने मामले में आईपीसी की 420 ,464,465,466,468,474,306 ,120B /34 के साथ ही NDPS कानून की धाराएं  8(1),21,22 ,29 के तहत भी की धाराएं भी लगाई है.

रिया के वकील ने बताया कि प्रियंका सिंह, राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टर डॉ. तरुण कुमार और अन्य के खिलाफ मुंबई पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है, उन्होंने इन पर जालसाजी, एनडीपीएस एक्ट और टेली मेडिसिन प्रैक्टिस गाइडलाइंस, 2020 के उल्लंघन के खिलाफ शिकायत दी है.

मानशिंदे ने बताया कि इनके खिलाफ यह आरोप लगाते हुए कहा गया है कि आठ जून, 2020 को सुशांत सिंह राजपूत को ओपीडी रोगी की तरह दिखाते हुए, उन्हें एनडीपीएस एक्ट में अनुसूची 36 और 37 के तौर पर लिस्ट की गई दवाइयां प्रिस्क्राइब की गई थीं. ये दवाइयां लिस्ट में साइकोट्रॉपिक सब्सटेंस के तहत रखी गई हैं और टेली मेडिसिन्स प्रैक्टिस गाइडलाइंस की प्रतिबंधित सूची के तहत आती हैं. उन्होंने कहा कि इस लिस्ट के तहत एनडीपीएस एक्ट के तहत प्रतिबंधित किसी भी साइकोट्रोपिक सब्सटेंस और नारकोटिक के प्रिस्क्रिप्शन पर प्रतिबंध लगा हुआ है.

रिया की शिकायत में कहा गया है कि पर्चे में डिस्क्रिप्शन दिल्ली की ओपीडी का है, जबकि सुशांत उस दिन मुंबई में मौजूद थे. शिकायत में कहा गया है कि प्रिस्क्रिप्शन लिखने वाले डॉक्टर तरुण कुमार पेशे से कार्डियॉलजिस्ट हैं, ऐसे में वह मानसिक रोगों से संबंधित डिप्रेशन की दवाओं का प्रिस्क्रिप्शन कैसे लिख सकते हैं.

ये भी पढ़ें- सुशांत केस की कवरेज, श्रीदेवी और दिव्या भारती के समय से कितनी अलग

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!