आधार सत्यापन के लिए अब चेहरे का भी होगा इस्तेमाल, जान लें नए नियम
आधार सत्यापन के लिए अब चेहरे का भी होगा इस्तेमाल, जान लें नए नियम(फोटोः iStock)
  • 1. UIDAI क्यों मेरा चेहरा क्लिक करना चाहता है ?
  • 2. लेकिन मैंने पहले ही अपना फिंगरप्रिंट और आंखों की पुतली की...
  • 3. क्या यह सभी आधार सत्यापनों पर लागू होगा?
  • 4. एपल फेस आईडी नष्ट हो गई है क्या UIDAI मुझे बेहतर सुरक्षा...
  • 5. फेस मैपिंग के लिए मेरी सहमति के बारे में क्या कहना है?
  • 6. क्या मुझे सम्भावित निगरानी को लेकर चिन्तित होना चाहिए?
  • 7. क्या चेहरे का सत्यापन फिंगरप्रिंट और आंखों की पुतली के...
आधार सत्यापन के लिए अब चेहरे का भी होगा इस्तेमाल, जान लें नए नियम

UIDAI अपने यूजर्स के सत्यापन के लिए 15 सितंबर को चेहरे की पहचान शुरू करने जा रहा है. इस तकनीक का इस्तेमाल मौजूदा बायोमेट्रिक पहचान के तरीकों के साथ किया जाएगा. इसे चरणबद्ध तरीके से लागू किया जा रहा है. इसकी शुरुआत टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर के जरिये हो रही है.

आधार के लीक होने, हैक होने और धोखाधड़ी की रिपोर्ट के बीच यह पहल हो रही है. और, यह पहल ऐसे समय पर हो रही है जब सुप्रीम कोर्ट इस आधार प्रोजेक्ट की संवैधानिक वैधता पर ही फैसला देने वाला है.

  • 1. UIDAI क्यों मेरा चेहरा क्लिक करना चाहता है ?

    UIDAI ने तय किया है कि वह यूजर को सत्यापित करने के लिए चेहरे को प्रमाणित करने का अतिरिक्त तरीका अपनाएगा. यह वर्तमान फिंगर प्रिंट/आंखों की पुतली आधारित सत्यापन के साथ-साथ होगा. सीधे शब्दों में कहें तो UIDAI के केन्द्रीय भंडार में पहले से हमारी तस्वीरें हैं. इलेक्ट्रॉनिक केवाईसी के दौरान फोटो लेकर यह उसके पास डाटा बेस में मौजूद तस्वीरों से उसका मिलान करेगा ताकि यूजर को सत्यापित किया जा सके. टेलीकॉम कम्पनियों से इसकी शुरुआत होगी, जो यूजर को सिम कार्ड उपलब्ध कराते हैं.

पीछे/पिछलाआगे/अगला

Follow our कुंजी section for more stories.

वीडियो