बुखार की दवा को भी तरसना पड़ सकता है? जानिए देश पर छाया दवा संकट
(फोटो: iStock)
  • 1. दवा सप्लाई का चीन फैक्टर?
  • 2. क्यों घट रही लगातार दवाओं की सप्लाई ? कितना बड़ा है संकट?
  • 3. प्राइस कंट्रोल के तहत ज्यादा दवाओं को रखने का भी है असर?
  • 4. क्या है ऑक्सिटोसिन संकट और क्या है असर?
बुखार की दवा को भी तरसना पड़ सकता है? जानिए देश पर छाया दवा संकट

देश में दवा दुकानों पर इस वक्त विटामिन सी को छोड़कर सभी दवाइयां पर्याप्त मात्रा में मौजूद हैं. लेकिन पिछले कुछ वक्त से कई जरूरी दवाओं की सप्लाई चेन में दिक्कत महसूस की जा रही है और आशंका है अगले कुछ महीनों के दौरान लोगों को भारी दवा संकट का सामना करना पड़ सकता है. जरूरी दवाओं, एंटीबायोटिक और विटामिन की सप्लाई में कमी की आशंका के पीछे कई वजहें हैं. आइए जानते हैं कि देश के दवा मार्केट में यह संकट क्यों पैदा होने जा रहा है.

  • 1. दवा सप्लाई का चीन फैक्टर?

    बुखार की दवा को भी तरसना पड़ सकता है? जानिए देश पर छाया दवा संकट
    दवा मैन्यूफैक्चरर्स के लिए आने वाले दिनों में प्रोडक्शन मुश्किल हो जाएगा
    (फोटो: Pixabay)

    दरअसल देश में दवा बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाले 60 फीसदी से अधिक बल्क ड्रग्स चीन से आयात होते हैं. इस वक्त बल्क ड्रग्स सप्लाई करने वाली चीन की ज्यादातर कंपनियां अपने प्लांट अपग्रेड कर रही हैं या पर्यावरण मानकों का पालन न करने की वजह से बंद की जा रही हैं. हाल के आंकड़ों से पता चलता है कि एपीआई (Active pharmaceutical ingredients - APIs ) में इस्तेमाल होने वाले बल्क ड्रग्स के आयात में गिरावट आई है और कुछ तो भारतीय बाजार में उपलब्ध ही नहीं हैं. ऐसे में दवा मैन्यूफैक्चरर्स के लिए आने वाले दिनों में प्रोडक्शन मुश्किल हो जाएगा.

पीछे/पिछलाआगे/अगला

Follow our कुंजी section for more stories.

वीडियो