दिल्ली में जरूरी सामान की दुकानें चौबीसों घंटे खुली रहेंगी: बैजल
दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल
दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल (फोटो: ANI)

दिल्ली में जरूरी सामान की दुकानें चौबीसों घंटे खुली रहेंगी: बैजल

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने बृहस्पतिवार को कहा कि दिल्ली सरकार आवश्यक सामान बेचने वाली दुकानों को चौबीसों घंटे खुली रहने की अनुमति देगी ताकि 21 दिन के लॉकडाउन की अवधि में इन दुकानों पर लोगों की भीड़ एकत्र नहीं हो।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दोपहर 12 बजे बैजल के साथ संयुक्त रूप से एक डिजिटल संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से संक्रमण का एक नया मामला आया है और इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण के कुल मामले 36 हो गए हैं।

उन्होंने कहा कि इन 36 लोगों में से 26 लोग वे हैं जो विदेशों से लौटे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ई-कॉमर्स कंपनियां राष्ट्रीय राजधानी में घर-घर जाकर सामान पहुंचा सकती हैं और लॉकडाउन की अवधि में उनके पहचानपत्र को ही वैध माना जाएगा।

बैजल ने बताया कि संबंधित एसडीएम और एसीपी को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं कि किराने का सामान, सब्जियां और दूध बेचने वाली दुकानें खुली रहें और उनके क्षेत्रों में आवश्यक वस्तुओं का पर्याप्त भंडार मौजूद रहे।

बैजल ने कहा कि किराने और आवश्यक सामान की दुकानों को इस विशेष परिस्थिति में चौबीसों घंटे खुले रखने की अनुमति है।

उन्होंने कहा कि इससे किसी खास समय में ग्राहक जमा नहीं होंगे और सामाजिक मेलजोल कम होगा (भीड़ नहीं लगेगी)।

केजरीवाल ने कहा कि लोग मुख्य रूप से घरों से भीतर ही रह रहे हैं और हालात ‘‘काबू में’’ हैं लेकिन इस जानलेवा वायरस को फैलने से रोकने के लिए और सावधानी की आश्यकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मोहल्ला क्लीनिक का एक डॉक्टर और उसका परिवार कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है, इसके बावजूद इन केंद्रों को बंद नहीं किया जाएगा और सभी प्रकार की सावधानियां बरती जा रही हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हम कोविड-19 मरीजों का उपचार कर रहे चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल कर्मियों की जांच करते रहेंगे।’’

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार ने तय किया है और आदेश जारी किया है कि दिल्ली में आवश्यक वस्तुओं की ई-कॉमर्स डिलीवरी ना रोकी जाए।

उन्होंने कहा, ‘‘इन लोगों के पहचानपत्र को साक्ष्य माना जाएगा और उन्हें यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी।’’

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)


Follow our अभी - अभी section for more stories.

    Loading...