ADVERTISEMENT

DGCA ने एयर इंडिया पर 10 लाख रुपये का लगाया जुर्माना

डीजीसीए ने एयर इंडिया पर 10 लाख रुपये का लगाया जुर्माना

Published
DGCA ने एयर इंडिया पर 10 लाख रुपये का लगाया जुर्माना
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

नई दिल्ली, 24 जनवरी (आईएएनएस)। नागरिक विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने 6 दिसंबर, 2022 को एआई-142 पेरिस-नई दिल्ली फ्लाइट में हुई घटनाओं की सूचना नहीं देने पर एयर इंडिया पर 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है।

एयर इंडिया की फ्लाइट में दो घटनाएं हुई थीं। फ्लाइट में पुरुष यात्री वॉशरूम में सिगरेट पीते हुए पकड़ा गया। वह नशे की हालत में था। वह केबिन क्रू के निर्देशों का पालन नहीं कर रहा था। वहीं, एक अन्य यात्री ने एक महिला यात्री के कंबल पर कथित तौर पर पेशाब कर दिया था, जब वह शौचालय गई थी।

इन घटनाओं को लेकर डीजीसीए ने एयर इंडिया के जवाबदेह प्रबंधक को कारण बताओ नोटिस जारी किया कि क्यों न उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। डीजीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि एयर इंडिया ने 23 जनवरी को कारण बताओ नोटिस का जवाब दिया और उसकी जांच की गई।

आधिकारिक ने कहा, डीजीसीए को घटना की सूचना नहीं देने और इसकी आंतरिक समिति को मामले को संदर्भित करने में देरी करने के लिए एयर इंडिया पर 10,00,000 रुपये (दस लाख रुपए) के वित्तीय दंड के रूप में प्रवर्तन कार्रवाई की गई है, यह डीजीसीए नागरिक उड्डयन आवश्यकताओं का उल्लंघन है।

6 दिसंबर, 2022 को एयर इंडिया पेरिस-नई दिल्ली उड़ान में यात्रियों के दुर्व्यवहार की दो घटनाओं के बाद, विमानन नियामक डीजीसीए ने एयरलाइन से सभी अनियंत्रित यात्रियों का डेटाबेस बनाए रखने के लिए कहा था। एयरलाइन से इस घटना को आंतरिक समिति को संदर्भित करने के लिए भी कहा गया।

इससे पहले 26 नवंबर 2022 की फ्लाइट में हुई एयर इंडिया के पेशाब करने की घटना में नियामक ने 20 जनवरी को एयर इंडिया पर 30 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था और पायलट-इन-कमांड का लाइसेंस तीन महीने के लिए निलंबित कर दिया था। इसके अलावा, नियामक ने अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने में विफल रहने के लिए एयर इंडिया के डायरेक्टर-इन-फ्लाइट सेवाओं पर 3 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था।

हालांकि, इस कार्रवाई पर प्रतिक्रिया देते हुए, ऑल इंडिया केबिन क्रू एसोसिएशन (एआईसीसीए) ने कहा कि एयर इंडिया के पेशाब मामले के संबंध में हटाए गए एयर इंडिया के चालक दल को उड़ानों पर बहाल किया जाए। इसने पायलट-इन-कमांड (पीआईसी) के खिलाफ कार्रवाई को असामान्य रूप से सजा करार दिया।

--आईएएनएस

पीके/एएनएम

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
450

500 10% off

1620

1800 10% off

4500

5000 10% off

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह

गणतंत्र दिवस स्पेशल डिस्काउंट. सभी मेंबरशिप प्लान पर 10% की छूट

मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×