दिल्ली : नेहरू स्टेडियम में ईट राइट फूड मेला
दिल्ली : नेहरू स्टेडियम में ईट राइट फूड मेला
दिल्ली : नेहरू स्टेडियम में ईट राइट फूड मेला

दिल्ली : नेहरू स्टेडियम में ईट राइट फूड मेला

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है.)

नई दिल्ली, 26 दिसम्बर (आईएएनएस)| दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में 'ईट राइट' यानी खानपान की अच्छी आदतों से जुड़ा मेला लगाया गया है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर के इस मेले का खास आकर्षण यहां मिलने वाला स्ट्रीट फूड है। आयोजकों के मुताबिक स्ट्रीट फूड होने के बावजूद स्वच्छता व सेहत के मामले में यह भोजन अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप है। खानपान पर आधारित इस विशेष मेले का आयोजन एफएसएसएआई (भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण) की ओर से किया गया है। यह फूड मेला 29 दिसंबर तक चलेगा।

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने गुरुवार को इस मेले का उदघाटन किया। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि ईट राइट मेला एक सराहनीय प्रयास है। ईट राइट मेले को सामुदायिक कार्यक्रमों और स्थानीय मेलों का हिस्सा बनाया जाना चाहिए ताकि लोग विभिन्न आहारों के स्वास्थ्य और पोषण फायदों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें। विशेषज्ञों द्वारा लोगों को आहार की सलाह दी जानी चाहिए। व्यंजन बनाने के तरीकों का लाइव प्रदर्शन होना चाहिए। ऐसे आयोजनों से लोगों को मनोरंजन भी मिलेगा।

डॉ. हर्षवर्धन ने इस तथ्य को रेखांकित करते हुए कहा कि भारत एक तरफ अल्प-पोषण से जूझ रहा है जिससे एक तरफ वास्टिंग और स्टंटिंग जैसी बीमारियां सामने आई हैं और दूसरी तरफ लोग मोटापे से ग्रसित हो रहे हैं। मोटापे का मुख्य कारण अधिक मात्रा में जंक फूड का उपभोग, गलत आहार का चयन, अधिक मात्रा में भोजन लेना और व्यायाम की कमी है। भोजन से संबंधित बीमारियों की वृद्धि से पता चलता है कि पिछले दशक की तुलना में लोग कम स्वास्थ्यप्रद भोजन ले रहे हैं। इस संदर्भ में एफएसएसएआई द्वारा शुरू किया गया ईट राइट आंदोलन समय की मांग के अनुरूप है।

एफएसएसएआई ने आठ नोडल संस्थानों की पहचान की है, जो शोध, सर्वेक्षण और संबंधित कार्य करेंगे। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि यह संस्थान खाद्य सुरक्षा मामलों पर डेटा इकट्ठा करेंगे और डेटा बेस तैयार करेंगे। डॉ. हर्षवर्धन ने उद्घाटन कार्यक्रम के दौरान दिल्ली के खाद्य सुरक्षा आयुक्त डी.एन. सिंह को तीन मोबाइल खाद्य जांच वैन (सीएनजी सक्षम) प्रदान किए।

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)


Follow our अभी - अभी section for more stories.

    Loading...