जलवायु परिवर्तन के निपटारे के लिए व्यावहारिक कदम हो : चीन

जलवायु परिवर्तन के निपटारे के लिए व्यावहारिक कदम हो : चीन

Published03 Dec 2019, 06:31 PM IST
अभी - अभी
1 min read

 बीजिंग, 3 दिसम्बर (आईएएनएस)| संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन महासभा का उद्घाटन सोमवार को स्पेन की राजधानी मेड्रिड में हुआ।

  पेरिस समझौते के कार्यान्वयन की ठोस नियमावलियों में अनसुलझे मुद्दों पर वार्ता पूरी करना इस महासभा का मुख्य विषय है। चीनी प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि वर्तमान में विभिन्न पक्षों को जलवायु परिवर्तन के निपटारे के लिए फौरन ही व्यावहारिक कदम उठाना चाहिए। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने उद्घाटन समारोह में भाषण देते समय कहा कि जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए अब नाजुक समय आ गया है। उन्होंने विश्व जलवायु संगठन के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि वायु में ग्रीन गैस का अनुपात नए रिकार्ड पर जा पहुंचा है। पिछले पांच साल इतिहास में सबसे ज्यादा गर्मी पड़ी थी। बर्फ की परत पिघल रही है। समुद्री स्तर बढ़ने की गति प्रतीक्षा से तेज हो रही है। उन्होंने विभिन्न पक्षों से मतभेद दूर कर समानताएं बनाने की अपील की।

इस महासभा में भाग ले रहे चीनी प्रतिनिधि मंडल के उप महासचिव लू शिन मिन ने बताया कि चीन पेरिस समझौते के कार्यान्वयन की ठोस नियमावलियों की वार्ता पूरा करने को बढ़ाएगा। इस के साथ ही चीन की आशा है कि पूंजी के मुद्दे पर सकारात्मक प्रगति होगी और वर्ष 2020 के पहले किये गए वायदों की समीक्षा की जाएगी।

(साभार---चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)


क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!