कटे होंठ और तालु के साथ जन्मे बच्चों के लिए आगे आया हिमालया
कटे होंठ और तालु के साथ जन्मे बच्चों के लिए आगे आया हिमालया
कटे होंठ और तालु के साथ जन्मे बच्चों के लिए आगे आया हिमालया

कटे होंठ और तालु के साथ जन्मे बच्चों के लिए आगे आया हिमालया

गुरुग्राम, 11 दिसंबर (आईएएनएस)| कटे होंठ और तालु के साथ जन्मे बच्चों को लेकर जागरुकता फैलाने के मकसद से द हिमालया ड्रग कंपनी ने अपने सामाजिक प्रभाव पहल 'मुस्कान' के के बैनर तले मंगलवार को एक नया अभियान -'एक नई मुस्कान' शुरू किया। इस अभियान के तहत हिमालया लिप केयर, कटे होंठ और तालु के बारे में जागरूकता बढ़ाना चाहता है। स्माइल ट्रेन इंटरनेशनल क्लेफ्ट चैरिटी के साथ साझेदारी में हिमालया लिप केयर वंचित बच्चों के लिए निशुल्क उपचार मुहैया करवाता है।

'एक नई मुस्कान' लखनऊ के पास एक छोटे से गांव में रहने वाली आठ साल की बच्ची मुनमुन की दिल को छू लेने वाली कहानी है। वह स्कूल जाने, दोस्तों के साथ खेलने और अन्य बच्चों की तरह एक पूर्ण जीवन जीने का सपना देखती है लेकिन कटे होंठ और तालु के कारण वह छुपकर रहने को मजबूर हैं। यहां तक की वह सपने में भी स्वयं को कटे होंठ और तालु में देखती है ओर मुखौटा पहन कर अपनी इच्छाओं को पूरा करने का सोचती है। यह फिल्म मुनमुन की सर्जरी के बाद हुए परिवर्तित जीवन को दर्शाती है।

इस फिल्म के निर्देशक राहुल भारती हैं और इसके गायक नामचीन एक्टर व गायक रघुवीर यादव हैं।

द हिमालया ड्रग कम्पनी के बिजनेस डायरेक्टर (कंज्यूमर प्रोडक्ट्स डिवीजन) राजेश कृष्णामूर्ति ने कहा, "स्माइल ट्रेन के साथ हमारी साझेदारी के माध्यम से 'मुस्कान' का उद्देश्य कटे होंठ और तालु के बारे में जागरूकता बढ़ाना है और यह सुनिश्चित करना है कि अधिक से अधिक बच्चों को छोटी उम्र में उपचार मिल सके। स्माइल खुशी की अभिव्यक्ति है और 'एक नयी मुस्कान' से हम बच्चों के सपनों को पूरा कर उनका जीवन खुशहाल बनाने तथा ज्यादा से ज्यादा चेहरों पर मुस्कुराहटें लाने का लक्ष्य रखते हैं। यह पहल हमारे ब्रांड की सोच 'खुश रहो, खुशहाल रहो' एवं हमारे ²ष्टिकोण 'हर घर तंदुरुस्त हो और हर दिल में खुशी हो' को दर्शाती है।

क्लेफ्ट के प्रति जागरूकता बढ़ाने पर जोर देते हुए एशिया स्माइल ट्रेन की वाइस प्रेजिडेंट व रिजनल डायरेक्टर ममता कैरोल ने कहा, 'भारत में हर साल 35,000 से अधिक बच्चे कटे होंठ और तालु के साथ पैदा होते हैं। जिनमें से औसतन 6000 उत्तर प्रदेश में हैं। कटे होंठ और तालु वाले बच्चे गलत जानकारी व अंधविश्वास के कारण न केवल अलग-थलग जीवन जीते हैं, बल्कि उन्हें खाने, सांस लेने और बोलने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। द हिमालया ड्रग कंपनी जैसी संस्थाओ व व्यक्तिगत रूप से दान करने वालों की मदद से स्माइल ट्रेन अन्य सहयोगी स्थानीय अस्पतालों की निशुल्क उपचार करवाता है। हमें हिमालया के साथ इस उम्दा पहल में भागीदारी करने की खुशी है और हम आगे चलकर एक साथ कई ओर मुस्कानों के लिए सहायक बनेंगे।"

'मुस्कान' पहल के तहत अभी तक 500 से अधिक बच्चे सर्जरी द्वारा कटे हुए होंठ ठीक करवा चुके हैं।

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)

(My रिपोर्ट डिबेट में हिस्सा लिजिए और जीतिए 10,000 रुपये. इस बार का हमारा सवाल है -भारत और पाकिस्तान के रिश्ते कैसे सुधरेंगे: जादू की झप्पी या सर्जिकल स्ट्राइक? अपना लेख सबमिट करने के लिए यहां क्लिक करें)


Follow our अभी - अभी section for more stories.

    वीडियो