लाल किले में दिव्यांग मॉडल्स ने किया रैम्प वॉक
लाल किले में दिव्यांग मॉडल्स ने किया रैम्प वॉक
लाल किले में दिव्यांग मॉडल्स ने किया रैम्प वॉक

लाल किले में दिव्यांग मॉडल्स ने किया रैम्प वॉक

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है.)

नई दिल्ली, 2 दिसम्बर (आईएएनएस)| लाल किले में रविवार को अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस की पूर्व संध्या पर नारायण सेवा संस्थान की ओर से दिव्यांगों के लिए आयोजित 'दिव्यांग टैलेंट और फैशन शो' का आयोजन किया गया। इस शो में बड़ी संख्या में दिव्यांग मॉडल्स ने हिस्सा लिया। इस दौरान दिव्यांग मॉडल्स ने व्हीलचेयर, बैसाखी, कैलीपर और कृत्रिम अंग जैसी अलग-अलग श्रेणियों में फैशन शो के चार राउंड प्रस्तुत किए। हरेक राउंड में 10 मॉडल्स प्रतिभागी बने।

समारोह की शुरूआत जन्मजात अविकसित हाथों के विकार से ग्रस्त दीया श्रीमाली के स्वागत नृत्य के साथ हुई। समारोह उस समय और परवान चढ़ने लगा, जब व्हीलचेयर राउंड, बैसाखी राउंड और कैलीपर राउंड के बाद लघु नाटक और समूह नृत्य पेश किए गए। रैम्प वॉक के दौरान और मंच पर स्टंट दिखाते समय कलाकारों का आत्मविश्वास देखने के काबिल था।

नारायण सेवा संस्थान के अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने कहा, "यह बड़ी हैरानी की बात है कि दिव्यांग लोगों के साथ समाज से बहिष्कृत व्यक्ति जैसा बर्ताव किया जाता है। हमारा मानना है कि कोई भी खामी किसी व्यक्ति को वो सब कुछ हासिल करने से नहीं रोक सकती, जिसे हासिल करना उसके जीवन का लक्ष्य है। इस शो के दौरान स्टेज पर सब कुछ लाइव देखना अपने आप में एक ऐसा उदाहरण है जो दिखाता है कि हम दिव्यांग लोगों को शारीरिक, सामाजिक और आर्थिक रूप से सशक्त बनाकर उन्हें समाज की मुख्यधारा में लाने के उद्देश्य से निस्संदेह बेहतर काम कर रहे हैं।"

इस समारोह में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए, जो दिव्यांग लोगों के असाधारण हौसले और उनके हुनर को देखकर दंग रह गए। परफॉर्मेन्स के अलावा नारायण सेवा संस्थान ने उन लोगों को कृत्रिम अंग भी प्रदान किए, जिनका पहले नाप ले लिया गया था। इसके साथ ही संस्थान ने उन दानदाताओं का सम्मान भी किया, जिन्होंने विशेष रूप से सक्षम लोगों की बेहतरी की दिशा में काम करने की राह में संस्थान का सहयोग किया है।

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)


Follow our अभी - अभी section for more stories.

    Loading...