ADVERTISEMENT

शिवराज पहुंचे खेतों में, किसानों के नुकसान की भरपाई का वादा

मध्य प्रदेश में पिछले दिनों हुई बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि के चलते फसलों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ

Published
शिवराज पहुंचे खेतों में, किसानों के नुकसान की भरपाई का वादा

मध्य प्रदेश में पिछले दिनों हुई बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि के चलते फसलों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को निवाड़ी जिले के खेतों में पहुंचे और किसानों को भरोसा दिलाया कि उनके नुकसान की सरकार भरपाई करेगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने शुक्रवार को निवाड़ी जिले की पृथ्वीपुर तहसील के ग्राम खिस्टोन में असमय वर्षा और ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों को देखने खेतों में पहुंचे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि बाहर से फसलें हरी दिखती हैं पर खेत में अंदर जाकर देखो तो कुछ नहीं बचा है। प्रदेश में पृथ्वीपुर सहित जहां-जहां भी फसलों को नुकसान पहुँचा है, उसकी भरपाई की जायेगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने खेतों में फसल का जायजा लेने के बाद किसानों से चर्चा भी की। उन्होंने कहा कि, घबराना मत, मुसीबत का मिलकर मुकाबला करेंगे। आँख में आंसू मत लाना। सभी संकट से बाहर निकाल लूंगा। जहां-जहां भी ओलावृष्टि से नुकसान हुआ है उसकी भरपाई सरकार करेगी। यदि फसल का 50 प्रतिशत से अधिक नुकसान हुआ है, तो 30 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर राहत राशि दी जायेगी। फसल बीमा का लाभ अलग से मिलेगा। साथ ही अल्पकालीन ऋण की वसूली स्थगित की जायेगी और अल्पकालीन फसल ऋण को मध्यकालीन ऋण में बदला जायेगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जनहानि के लिये चार लाख, गाय-भैंस की मृत्यु पर 30 हजार रुपए और छोटे पशुओं बछड़ा-बछड़ी, बकरा-बकरी तथा मुर्गा-मुर्गी के लिये भी राहत राशि दी जायेगी। यदि मकानों को क्षति हुई है, खपरेल को नुकसान पहुंचा है, तो इसके लिये भी मुआवजा राशि दी जायेगी।

मुख्यमंत्री चौहान ग्राम खिस्टोन में ओलावृष्टि से प्रभावित खेत के भ्रमण के दौरान पीड़ित महिला किसान को 50 हजार रुपए की राशि शीघ्रता से भुगतान करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। मुख्यमंत्री चौहान ने मड़िया हल्का के मबई ग्राम की महिला किसान मक्खन बाई रजक से कहा कि चिंता करने की आवश्यकता नहीं है, आपका भाई मुख्यमंत्री है। उन्होंने मक्खन बाई को 50 हजार रुपए सहायता राशि देने के निर्देश दिये।

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT