फारूक अब्दुल्ला ने किया 'सत्य और संधि आयोग' का वादा

फारूक अब्दुल्ला ने किया 'सत्य और संधि आयोग' का वादा

Published12 Jan 2019, 01:34 PM IST
अभी - अभी
2 min read

श्रीनगर, 12 जनवरी (आईएएनएस)| नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) के अध्यक्ष और जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने शनिवार को वादा किया कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो वे 'सत्य एवं संधि आयोग' का गठन करेंगे। अनंतनाग जिले में पार्टी के एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा, "उम्मीद है कि ईश्वर हमारी पार्टी को बिना किसी अन्य पार्टी के सहयोग से सत्ता में लाएंगे।"

एनसी के उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला पहले ही कह चुके हैं कि 'सत्य और संधि आयोग' बनना चाहिए जो राज्य में पिछले तीन दशकों से हो रही हत्याओं की जांच करेगी।

उन्होंने कहा, "हमारी पार्टी के सत्ता में आने के पहले दिन ही हम ऐसा आयोग गठित करेंगे और देखेंगे कि इसके परिणाम ना सिर्फ जम्मू एवं कश्मीर, बल्कि शेष विश्व के सामने भी लाए जाएं।"

उमर ने कहा कि उनकी पार्टी आतंकवादियों के खिलाफ 'ऑपरेशन ऑल आउट' का समर्थन नहीं करती है।

उन्होंने कहा, "हम उसका समर्थन कैसे कर सकते हैं जहां दमन हो? यह 'ऑल आउट' का प्रश्न नहीं है।"

उमर ने कहा, "हम अपने लोगों को कष्ट में नहीं देखना चाहते और यह भी नहीं कि वे अपने घरों में पीटे जाएं। यह एनसी की नीति कभी नहीं रही।"

फारूक अब्दुल्ला ने कहा, "हमारी पार्टी किसी हिंसा या मानवाधिकार के हनन का समर्थन नहीं करेगी।"

उन्होंने कहा, "हर कोई स्वतंत्र है, हम एक आजाद देश में रहते हैं और सरकार में आने पर हमें देखना होगा कि लोगों की आजादी को नियंत्रित ना किया जाए।"

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)


क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!