प्रत्येक महानगर के बीच में बने 'गायों का हॉस्टल' : केंद्रीय मंत्री रुपाला

प्रत्येक महानगर के बीच में बने 'गायों का हॉस्टल' : केंद्रीय मंत्री रुपाला

Published
अभी - अभी
2 min read
प्रत्येक महानगर के बीच में बने

 नई दिल्ली, 14 फरवरी (आईएएनएस)| केंद्र सरकार में कृषि राज्य मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला चाहते हैं कि देशभर के सभी महानगरों के बीच में गायों के लिए हॉस्टल बनाए जाने चाहिए।

 केंद्रीय मंत्री का कहना है कि महानगरों के बीच में गायों के रहने के लिए 'काउ हॉस्टल' बनाने से जैविक किस्म की खेती भी सरल हो जाएगी। केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण राज्यमंत्री पुरुषोत्तम रुपाला शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के नोएडा में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए जहां उन्होंने यह बातें कही।

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री ने कहा, "देश के सभी महानगरों के बीच में 'काउ हॉस्टल' बनाने की आवश्यकता है, ताकि महानगर में भी गाय पालना आसान हो सके।"

उन्होंने कहा, "महानगर के बीच में गायों का हॉस्टल बनाने से जैविक खेती आसान हो जाएगी। गायों के हॉस्टल इसलिए भी आवश्यक हैं ताकि लोग जैविक किस्म की खेती कर सकें।"

पुरुषोत्तम रुपाला नोएडा में 14 से 16 फरवरी तक चलने वाले मल्टी लेयर फार्मिग प्रशिक्षण शिविर में पहुंचे थे। इस शिविर में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "भारत में पहले से ही जैविक खेती होती थी। बस किसानों को समझाने की आवश्यकता है। हम सब को किसान की आय दुगनी कैसी हो, इसके बारे में सोचना चाहिए। इसके लिए एक संगठन खड़ा करने की आवश्यकता है। हम सबको मिलकर किसानों के लिए काम करना होगा।"

उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा, "गुजरात के सूरत में हमने 200 लोगों को इकठ्ठा किया और उनको जरूरत के हिसाब से सब्जी आदि उनको घरों तक पहुंचाई। ऑनलाइन जैसे सामान खरीदते हैं, वैसे ऑनलाइन सब्जी बेचने की भी व्यवस्था करनी चाहिए। हमे मार्केट के साथ चलने की जरूरत है।"

ऑर्गेनिक खेती एक्सपर्ट दीपक नदवेडे ने कार्यक्रम में आए लोगों को संबोधित करते हुए कहा, "अगली पीढ़ी को विष मुक्त भोजन दे सकें, इसके लिए जरूरी है रसायन मुक्त खेती करें।"

मल्टी लेयर खेती एक्सपर्ट आकाश चौरसिया ने बताया कि रसायन का प्रयोग हरित क्रांति के दौरान पैदावर बढ़ाने के लिए था, लेकिन हमने लालच में आकर अति कर दिया। हमें प्रकृति को बचाने के लिए जैविक खेती करनी होगी। आकाश ने कहा, "हमारे देश में और पूरे विश्व में पानी की लगातार कमी हो रही है जिससे निजात पाने के लिए मल्टी लेयर फामिर्ंग करने की जरूरत है। इस से पानी का वास्पिकरण 70-80 प्रतिशत तक कम हो जाता है।"

राज्य सभा सांसद आर. के सिन्हा ने भी इस कार्यक्रम में शिरकत की। सिन्हा ने कहा, "देसी गाय पालन को बढ़ाने की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सपना है कि किसान कि आय दुगनी हो सके। इसके लिए जैविक उत्पाद करने की जरूरत है।"

खेती किसानी से जुड़े इस कार्यक्रम में देश भर के कृषि से जुड़े छात्राओं एवं लोग हिस्सा लेने आए हैं।

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)


क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!