पर्यावरण को बचाने के लिए 'हैशआईचक' अभियान शुरू
पर्यावरण को बचाने के लिए
पर्यावरण को बचाने के लिए

पर्यावरण को बचाने के लिए 'हैशआईचक' अभियान शुरू

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है.)

 नई दिल्ली, 16 मई (आईएएनएस)| पर्यावरण को बचाने की दिशा में खास पहल करते हुए चक ने एक देशव्यापी 'हैशआईचक' प्रचार अभियान शुरू किया है, जो 5 जून तक चलेगा। इसका मकसद लोगों में जागरूकता लाना है, ताकि वे स्थिरतापूर्ण जीवनशैली अपनाकर धरती को अधिक स्वस्थ बनाने का प्रयास करें।

 चक के वाइस चेयरमैन वेद कृष्णा ने कहा, "चक का बुनियादी मकसद पर्यावरण अनुकूल कार्यो को बढ़ावा देना है। सोशल मीडिया का चलन देखते हुए हम ने इसके प्लैटफॉर्म का उपयोग करने और दिलचस्पी के साथ इस मुद्दे को सामने रखने का प्रयास किया है। कैम्पेन का मुख्य उद्देश्य अधिक से अधिक लोगों को जागरूक बनाकर उन्हें पर्यावरण की तबाही से कदम पीछे खींचने के लिए उत्साहित करना है और अपनी एक आदत छोड़ने के लिए प्रेरित करना है जो पर्यावरण के साथ-साथ उन्हें भी नुकसान पहुंचा रही है।"

उन्होंने कहा, "यह बिल्कुल आसान हो सकता है। जैसे मैंने धूम्रपान करना छोड़ दिया।"

कृष्णा ने कहा, "इस कैम्पेन से हर शहर और हर उम्र के लोगों को जोड़ने और जन-जन तक पहुंचने के लिए सोशल मीडिया का उपयोग किया गया है। इसमें लोग अपनी एक आदत जो छोड़ना चाहते हैं, उसके बारे में पिक्चर/वीडियो अपलोड करेंगे। उदाहरण के लिए रुप्बीना- विवरण में 3 दोस्तों को चुनौती देते हुए जो इंस्टाग्राम हैंडल पर पोस्ट करना होगा। इस तरह प्रतिभागी को चक के ऑफिशियल इंस्टाग्राम हैंडल पर दिखाया जाएगा।"

उन्होंने कहा कि हमारे स्थिर विकास की सबसे बड़ी चुनौती स्वस्थ पर्यावरण की दिशा में हमारे प्रयासों को तेज करना और हर इंसान को पर्यावरण के प्रति जिम्मेदार बनाना है। लेकिन विडंबना यह है कि स्थिर विकास की चुनौतियांे का जलवायु परिवर्तन से सीधा संबंध है।

कृष्णा ने कहा कि चुनौतियां अनगिनत हैं और विभिन्न प्रकार की हैं, पर समाधान आसान है और हर इंसान कुछ योगदान दे सकता है। आज के इस युग में जब हम सभी अपनी-अपनी वास्तविकता को सबसे अधिक महत्व देते हैं, यह और जरूरी हो जाता है कि पर्यावरण बचाने की दिशा में हम मिल कर पूरा जोर लगाएं और भावी पीढ़ी के लिए एक बेहतर दुनिया बनाएं।

उन्होंने कहा कि यह अभियान केवल खुद के लिए नहीं, बल्कि मानवता के लिए लाभदायक कुछ खास करने के लिए उत्साहित करता है। चक का यह अभियान 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस पर एक वीडियो के साथ सम्पन्न होगा, जिसमें कैम्पेन के प्रतिभागियों की चुनौतियों के स्निपेट्स दिखाए जाएंगे। चक का उद्देश्य सभी इंसानों में मौजूद भावनात्मक शक्ति को जगाना है। इसके लिए उन्हें दिखाना होगा कि वे इस दिशा में कितने शक्तिशाली प्रयास कर सकते हैं।

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)

(ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)


Follow our अभी - अभी section for more stories.

वीडियो

Loading...