ADVERTISEMENT

Presidential Election 2017: जानिए रामनाथ कोविंद का राजनीतिक सफर

रामनाथ कोविंद के नाम का ऐलान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया 

Updated
Presidential Election 2017: जानिए रामनाथ कोविंद का राजनीतिक सफर
i

बीजेपी चीफ अमित शाह ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए की ओर से राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम का ऐलान कर दिया है. सोमवार को बीजेपी संसदीय दल की बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमित शाह ने बताया कि एनडीए की ओर से बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार होंगें.

रामनाथ कोविंद कानपुर देहात जिले के रहने वाले हैं और दलित समुदाय से आते हैं. शाह ने कहा कि बीजेपी की संसदीय बोर्ड की बैठक में यह फैसला लिया गया है.

ADVERTISEMENT
रामनाथ कोविंद के नाम का ऐलान करते हुए अमित शाह ने कहा, ‘वो एक दलित हैं, हमेशा संघर्ष करेंगे. बिहार राज्य के गवर्नर के रूप में अभी काम कर रहे हैं. रामनाथ जी हमेशा समाज, गरीबों, पिछड़ों, दलितों के साथ जुड़े रहे हैं. एक गरीब के घर में जन्म लेकर संघर्ष कर इतने ऊंचे मुकाम पर पहुंचे हैं. हमने आज उनका नाम तय किया है.’
राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद
(फोटोः Quint Hindi)

अमित शाह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि नाम तय करने से पहले बीजेपी ने देश के सभी राज्यों, पार्टियों और एनडीए के साथियों से चर्चा की है. उन्होंने कहा, “पीएम ने स्वयं कांग्रेस चीफ सोनिया गांधी से बात की. पूर्व पीएम डॉक्टर मनमोहन सिंह जी से बात की. साथ ही वरिष्ठ नेताओं से बात की.''

जानिए कौन है रामनाथ कोविंदः

  • बिहार के राज्यपाल हैं रामनाथ कोविंद
  • 1 अक्टूबर 1945 में हुआ जन्म
  • कानपुर देहात में डेरापुर तहसील के गांव परौख के रहने वाले हैं
  • संदलपुर ब्लॉक के गांव खानपुर में हुई स्कूली शिक्षा
  • कानपुर यूनिवर्सिटी से बीकॉम और एलएलबी की पढ़ाई की
  • 1977 से 1979 तक केंद्र सरकार की तरफ से दिल्ली हाईकोर्ट में वकील रहे
  • 1980 से 1993 तक केंद्र सरकार की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में स्थाई वकील रहे
  • 1994 से 2006 तक कोविंद उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सांसद रहे, इस दौरान वो SC/ST वेलफेयर, पेट्रोलियम और नेचुरल गैस समेत कई संसदीय समितियों के सदस्य रहे
  • इसके बाद बीजेपी के संपर्क में आए कोविंद को पार्टी ने साल 1990 में घाटमपुर लोकसभा सीट से चुनाव के मैदान में उतारा. हालांकि, उन्हें हार मिली.
  • 2002 में कोविंद ने संयुक्त राष्ट्र की जनरल एसेंबली को संबोधित किया
  • इसके बाद2007 में भोगनीपुर सीट से चुनाव लड़ा, इसमें भी उन्हें हार मिली

बीजेपी चीफ अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा है कि एनडीए के उम्मीदवार का ऐलान किए जाने को लेकर विपक्ष को भी जानकारी दे दी गई है. रामनाथ कोविंद को भी संसदीय बोर्ड के फैसले के बारे में जानकारी दे दी गई है. संभव है कि रामनाथ कोविंद जल्द ही बिहार के राज्यपाल पद से इस्तीफा दे सकते हैं.

उधर प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी को लेकर अन्य विपक्षी दलों के साथ 22 जून को बैठक करेगा. इसी बैठक में फैसला लिया जाएगा कि रामनाथ कोविंद के नाम पर आम सहमति बनेगी या फिर यूपीए अपना उम्मीदवार एनडीए के खिलाफ उतारेगा.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×