दिल्ली के विज्ञान भवन में 11वें सिविल सेवा समारोह में प्रधानमंत्री मोदी पहुंचे. (फोटो: PTI)
| 1 मिनट में पढ़िए

सिविल सर्विस डे: अधिकारियों को पीएम मोदी की घुट्टी

दिल्ली के विज्ञान भवन में 11वें सिविल सेवा समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे. उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों को संबोधित करते हुए मोदी मंत्र दिया.

उन्होंने ई-गवर्नेंस, एम (मिनिमम)-गवर्नेंस, सोशल मीडिया के जरिए लोगों तक पहुंच बनाने की बात कही. सोशल मीडिया का इस्तेमाल जनता की भलाई के लिए करना चाहिए. अपने विवेक से ताकत का इस्तेमाल करना चाहिए.

पीएम ने कहा...

  • सोशल मीडिया की ताकत पहचानता हूं. लेकिन काम के दौरान खुद का प्रचार सही नहीं.
  • सोशल मीडिया के जरिए व्यवस्था का प्रचार करना ज्यादा उपयोगी है.
  • ज्यादातर अधिकारी सोशल मीडिया में व्यस्त रहते हैं. इसलिए बैठकों में मैंने मोबाइल पर रोक लगाई.
  • राष्ट्रहित सिविल सेवा का धर्म है. अभाव में काम करने के लिए सोच बदलनी होगी.
  • अफसर चाह लें तो गंगा साफ हो सकती है
  • लोगों के मन में भाव पैदा कीजिए आभाव नहीं
  • अनुभव को बोझ न बनने दें
  • हम अपनी जिंदगी से ही प्रेरणा ले सकते हैं
  • सत्य, निष्ठा से काम होना चाहिए, मैं आपके साथ खड़ा हूं
  • अफसर हर फैसले को राष्ट्रहित की कसौटी पर तौलें
  • सरकारें आएंगी जाएंगी, व्यवस्था चालू रहेगी
  • विभागों में मतभेद नहीं होना चाहिए

इस मौके पर पीएम मोदी ने सिविल सेवा अधिकारियों को सम्मानित भी किया.