सेना प्रमुख बिपिन रावत (फोटो: द क्विंट)
| 1 मिनट में पढ़िए

सेना प्रमुख के बयान पर सियासी बवाल, कांग्रेस-बीजेपी आमने सामने

आतंकियों की मदद करने वालों को लेकर दिए गए सेना प्रमुख रावत के बयान पर सियासी संग्राम शुरू हो गया है. बिपिन रावत के बयान को लेकर बीजेपी-कांग्रेस आमने सामने आ गई हैं. गुरुवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा ''सेना अगर ये कहती है कि वो कश्मीर के बच्चों को पकड़ेगी तो इसे लोग पसंद नहीं करेंगे. ये बहुत ज्यादती होगी''

आजाद ने यह भी कहा कि पिछले साल 1 हजार बच्चों पर पैलेट गन का इस्तेमाल हुआ, 100-200 बच्चों की आंखें चली गईं.

कांग्रेस के इस बयान के बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि हम कांग्रेस के बयान की निंदा करते हैं, सेना और सेना प्रमुख को राजनीति से दूर रखना चाहिए.

आपको बता दें कि सेना प्रमुख ने सेना के ऑपरेशन्स में बाधा डालने वालों को कड़ी चेतावनी दी थी. रावत ने कहा था कि ऐसे लोगों को आतंकियों का मददगार समझा जाएगा और उनपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.