थरूर Vs खेर: बेरोजगार और दिमागी कंगाल कौन किसे क्यों बता रहा?

राजनीति और सामाजिक मुद्दों पर हमेशा मुखर रहने वाले एक्टर अनुपम खेर ट्विटर पर खासा नाराज नजर आए.

Updated28 Jun 2020, 02:57 PM IST
सोशलबाजी
2 min read

राजनीति और सामाजिक मुद्दों पर हमेशा मुखर रहने वाले एक्टर अनुपम खेर ट्विटर पर खासा नाराज नजर आए. नाराजगी इतनी कि खेर ने कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद शशि थरूर को बेरोजगार और दिमागी कंगाल तक बता डाला. इसके जवाब में शशि थरूर ने खेर के साथ-साथ सरकार पर भी निशाना साधा है.

दरअसल, यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान अनुपम खेर डीजल-पेट्रोल के दाम बढ़ने से लेकर कई मुद्दों पर सरकार को ट्विटर से खरी-खरी सुनाते नजर आते थे. अब एनडीए सरकार के दौरान ट्विटर पर कुछ यूजर्स उनके पुराने ट्वीट्स को रीट्वीट कर रहे हैं और उनसे सवाल पूछे जाने की उम्मीद कर रहे हैं.

इसी बीच शशि थरूर ने भी उनके 8 साल पुराने ट्वीट को रीट्वीट कर लिखा-

थैंक्स अनुपम खेर. आपसे पूरी तरह सहमत हूं. ‘’देशप्रेम वो है कि जिसमें आप अपने देश के लिए हमेशा वफादार रहें, और सरकार के लिए तब ही हों जब वो उसके काबिल हो.’’ (~Mark Twain)

अनुपम खेर ने अपने उस पुराने ट्वीट में Edward Abbey के एक कोट को शेयर किया था- एक देशभक्त को अपनी सरकार के खिलाफ,देश की रक्षा के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए.

थरूर का ये 'Thanks' अनुपम खेर को बिलकुल पसंद नहीं आया और उन्होंने थरूर को बेरोजगार और दिमागी कंगाल तक बता दिया.

प्रिय शशि थरूर!आपने मेरे 2012 के ट्वीट को ढूंढकर निकाला, आज उस पर टिप्पणी की. ये न केवल आपकी बेरोजगारी और दिमागी कंगाली का प्रमाण है. बल्कि आप इंसानी तौर पर कितना गिर चुके हैं इसका भी सबूत है. मेरा ये ट्वीट जिन लोगों के लिए था वह आज भी भ्रष्टाचार का प्रतीक हैं. आप जानते हैं.
अनुपम खेर

वार-पलटवार यहीं नहीं रुका. शशि थरूर ने अनुपम खेर को जवाब देते हुए मौजूदा सरकार को भी अपने निशाने पर लिया है.

ट्विटर पर अनुपम खेर के पुराने ट्वीट हो रहे रीट्वीट

ट्विटर पर यूजर्स अनुपम खेर के कई पुराने ट्वीट्स को रीट्वीट कर रहे हैं.

बता दें कि अनुपम खेर की पत्नी किरण खेर बीजेपी से सांसद हैं.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 28 Jun 2020, 01:25 PM IST

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर को और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!