PM मोदी के भाषण पर विपक्षी नेताओं का पलटवार- 'किसान मूर्ख नहीं है'

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर भी जमकर निशान साधा. इस पर कांग्रेस ने भी जमकर पलटवार किया है

Published
सोशलबाजी
2 min read
पीएम मोदी ने कांग्रेस पर भी जमकर निशान साधा. इस पर कांग्रेस ने भी जमकर पलटवार किया है
i

लोकसभा से कृषि से जुड़े बिल पास होने के बाद आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने भाषण दिया और किसानों से कहा कि भटकावे में मत आइए. पीएम मोदी ने कांग्रेस पर भी जमकर निशान साधा. इस पर कांग्रेस ने भी जमकर पलटवार किया है. राहुल गांधी ने कहा कि इस कानून से मोदी सरकार अपने व्यापारी दोस्तों का व्यापार बढ़ाएगी और किसान की रोजी रोटी पर वार होगा.

पीएम मोदी ने भाषण में किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसी गलत सूचना फैलाई जा रही हैं कि किसानों को उनकी फसलों का सही दाम नहीं मिलेगा. लेकिन वो भूल रहे हैं कि देश के किसान कितने जागरुक हैं.

इसका पलटवार करते हुए राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा-

किसान का मोदी सरकार से विश्वास उठ चुका है क्योंकि शुरू से मोदी जी की कथनी और करनी में फर्क रहा है. नोटबंदी, गलत GST और डीजल पर भारी टैक्स. जागृत किसान जानता है- कृषि विधेयक से मोदी सरकार बढ़ाएगी अपने ‘मित्रों’ का व्यापार और करेगी किसान की रोज़ी-रोटी पर वार.
राहुल गांधी, कांग्रेस नेता

वामपंथी दल CPI के युवा नेता कन्हैया कुमार ने कहा कि पीएम कह रह है कि किसानों को गुमराह किया जा रहा है, क्या इसका मतलब ये है कि किसानों के पास अपनी बुद्धि नहीं होगी.

प्रधानमन्त्री जी किसान-विरोधी अध्यादेशों का बचाव करते हुए कह रहे हैं कि इनके खिलाफ किसानों को गुमराह किया जा रहा है. मतलब किसानों के पास अपनी बुद्धि नहीं होती? एक आप ही समझदार हैं बाकी सब बेअक्ल? साहेब, आप किसानों और नौजवानों को बेवकूफ समझना बंद कर दीजिए.
कन्हैया कुमार

वहीं हाल में ही कांग्रेस से निकाले गए नेता संजय झा ने ट्विटर पर लिखा कि

हमारे कांग्रेस के 2019 लोकसभा चुनाव के मेनीफेस्टो में ही APMC एक्ट को खत्म करने की बात लिखी हुई है. मोदी सरकार ने भी किसानों पर लाए बिल में यही किया है. इस तरह से बीजेपी और कांग्रेस एक जैसे ही हैं.
संजय झा

किसानों के विरोध के बीच पास हो रहे बिल

केंद्र सरकार के तीन अध्यादेशों को संसद में पास कराने को लेकर देशभर में किसानों का प्रदर्शन जारी है. एक दिन पहले ही बीजेपी की सहयोगी पार्टी अकाली दल की नेता और केंद्रीय खाद्य मंत्री हरसिमरत कौर ने केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया.

जिन कानूनों को लेकर विरोध हो रहा है वो कृषि से जुड़े हैं. लेकिन तमाम विरोध के बाद भी सरकार इन्हें पास कर रही है. अब सरकार ने लोकसभा में कृषि उत्पाद व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) अध्यादेश यानी Farmers Produce Trade and Commerce (Promotion and Facilitation) Ordinance 2020 बिल पास कर दिया है.

बता दें कि इस कृषि उत्पाद व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) अध्यादेश के तहत किसान अपनी तैयार फसलों को कहीं भी किसी भी व्यापारी को बेच सकता है. उसे अपने क्षेत्र की APMC मंडी में अपनी फसल बेचने की मजबूरी नहीं होगी. सरकार इसे एक देश एक बाजार के रूप में सामने रख रही है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!