‘शशि थरूर बने शेक्सपियर’,बोले-शुक्रिया, पर सम्मान का हकदार नहीं
‘शशि थरूर बने शेक्सपियर’,बोले-शुक्रिया, पर  सम्मान का हकदार नहीं

‘शशि थरूर बने शेक्सपियर’,बोले-शुक्रिया, पर सम्मान का हकदार नहीं


शशि थरूर ने एक फोटो ट्विटर पर शेयर किया है. इस फोटो में उनकी एक तस्वीर को किसी ने साहित्यकार शेक्सपियर के साथ मर्ज किया है. थरूर के मुताबिक इस फोटो को व्हॉट्सएप पर भी फैलाया जा रहा है. हालांकि इस फोटो पर थरूर को किसी भी तरह की आपत्ति नहीं है. बल्कि उन्होंने इसे मजाक के तौर पर लिया.

Loading...

ट्विटर पर फोटो शेयर करते हुए थरूर ने लिखा,

आज व्हाट्सएप पर चलने वाली सबसे प्रशंसनीय तस्वीर. हैरान हूं कि किसी ने मुझे शेक्सपियर बनाने के बारे में सोचा और इस बात को करने की तकलीफ ली. जिसने भी ये किया उसे शुक्रिया (हालांकि मैं इस सम्मान का हकदार नहीं हूं).
शशि थरूर

लेखक हैं शशि थरूर

शशि थरूर राजनेता के साथ-साथ प्रसिद्ध लेखक भी हैं. वे कई पुस्तकों के अलावा, अखबारों में रेगुलर कॉलम भी लिखते रहे हैं. द ग्रेट इंडियन नॉवेल, एन एरा ऑफ डॉर्कनेस, पैक्स इंडिका, द पैराडॉक्सियल प्राइममिनिस्टर और व्हाई आई एम अ हिंदू उनकी प्रमुख किताबें हैं.

इंग्लैंड में जन्मे शेक्सपियर दुनिया के सबसे प्रसिद्ध साहित्यकारों में से एक हैं. उन्होंने कई मशहूर नाटक लिखे. शेक्सपियर की 154 सोनेट भी प्रसिद्ध हैं. उन्हें बड़ी संख्या में इंग्लैंड के राष्ट्रीय कवि के तौर पर भी जाना जाता है. भारत में भी कई फिल्में शेक्सपियर की रचनाओं से प्रेरित रही हैं. इनमें पंकज कपूर स्टारर मकबूल प्रमुख है, जो शेक्सपियर के मैकबेथ से प्रेरित थी.

पढ़ें ये भी: रोमियो रो रहा है! शेक्सपियर के नोवेल से यूपी पुलिस के ‘ड्रामा’ तक

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our सोशलबाजी section for more stories.

    Loading...