ADVERTISEMENT

Subhas Chandra Bose Jayanti Wishes: नेताजी की 127वीं जयंती शेयर करें यें कोट्स

Netaji Subhas Chandra Bose Jayanti: आजाद हिंद फौज का गठन नेता जी सुभाष चंद्र बोस ने किया था.

Updated
Subhas Chandra Bose Jayanti Wishes: नेताजी की 127वीं जयंती शेयर करें यें कोट्स
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

Netaji Subhas Chandra Bose Jayanti Wishes 2023: "तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा" का नारा देने वाले नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 127वीं जयंती आज 23 जनवरी 2023 को मनाई जा रही है. आज उनके जन्मदिन के दिन लोग उन्हें याद कर श्रद्धांजलि दें रहें है. सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को ओडिशा के कटक में हुआ था और उनका निधन 18 अगस्त, 1945 ताइवान में हुआ था. भारत की आजादी में नेता जी का बहुत बड़ा योगदान रहा है.

ADVERTISEMENT

नेता जी की माता का नाम प्रभावती देवी और पिता का नाम जानकीनाथ बोस था, नेता जी के अलावा उनके 7 भाई और 6 बहनें थीं. आजाद हिंद फौज का गठन नेता जी सुभाष चंद्र बोस ने किया था. नेता जी के कई ऐसे नारे हैं जो आज भी लोगों के दिलों में बसे हुए हैं. ऐसे में आज उनकी जयंती पर हम आपके लिए उनके कुछ कोट्स लेकर आए हैं जन्हें शेयर कर आप उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दें सकते है.

ADVERTISEMENT

Netaji Subhas Chandra Bose Jayanti Wishes 2023: कोट्स, विश, स्टेटस

1. ''मुझे यह नहीं मालूम कि स्वतंत्रता के इस युद्ध में हम में से कौन -कौन जीवित बचेंगे, परंतु मैं यह जानता हूं कि अंत में विजय हमारी ही होगी''

2. ''जो अपनी ताकत पर भरोसा करते हैं, वो आगे बढ़ते हैं और उधार की ताकत वाले घायल हो जाते हैं.''

3. ''जिस व्यक्ति के अंदर 'सनक' नहीं होती वो कभी महान नहीं बन सकता. लेकिन उसके अंदर, इसके आलावा भी कुछ और होना चाहिए.''

ADVERTISEMENT

4. ''आज हमारे अंदर बस एक ही इच्छा होनी चाहिए, मरने की इच्छा ताकि भारत जी सके; एक शहीद की मौत मरने की इच्छा ताकि स्वतंत्रता का मार्ग शहीदों के खून से प्रशस्त हो सके''

5. ''हमारा सफर कितना ही भयानक, कष्टदायी और बदतर हो, लेकिन हमें आगे बढ़ते रहना ही है. सफलता का दिन दूर हो सकता हैं, लेकिन उसका आना अनिवार्य ही है.''

6. ''तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आज़ादी दूंगा''

ADVERTISEMENT

7. ''मेरा अनुभव है कि हमेशा आशा की कोई न कोई किरण आती है, जो हमें जीवन से दूर भटकने नहीं देती.''

8. ''याद रखिए सबसे बड़ा अपराध अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना है''

9. ''मां का प्यार सबसे गहरा होता है- स्वार्थरहित. इसको किसी भी तरह से मापा नहीं जा सकता.''

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×