ADVERTISEMENT

16 लाख लेकर चार महीने कराई सेना में नौकरी फिर घर भेज दिया- दो गिरफ्तार एक फरार

Army job scam: पुलिस ने आरोपियों के पास से सेना की एक वर्दी, सेना के बैज और एक देसी पिस्टल बरामद की है.

Published
16 लाख लेकर चार महीने कराई सेना में नौकरी फिर घर भेज दिया- दो गिरफ्तार एक फरार
i

भारतीय सेना की सुरक्षा अभेद्य होती है. लेकिन ठगी से जुड़े एक मामले में सेना में तैनात एक जवान ने सेंध लगा दी. आरोप है कि इस सैनिक ने सेना (टेरिटोरियल आर्मी) में नौकरी दिलाने के नाम पर दो सगे भाईयों से 16 लाख रुपये की वसूली की. मिलिट्री इंटेलिजेंस के सक्रिय होने के बाद मामले का खुलासा हुआ और अब पुलिस ने मेरठ में केस दर्ज कर सैनिक को गिरफ्तार कर लिया है.

ADVERTISEMENT

मिलिट्री इंटेलिजेंस और मेरठ पुलिस ने किया गिरफ्तार 

मुजफ्फरनगर के ककराला गांव का आरोपी राहुल 2019 में यूपी के फैजाबाद से सेना में भर्ती हुआ था. भारतीय सेना की टेरीटोरियल आर्मी की 118 इन्फैन्ट्री बटालियन में उसे पोस्टिंग मिली. हाल ही में वह पंजाब के पठानकोट में पाकिस्तान बार्डर पर तैनात था. अक्टूबर 2022 में उसने अचानक सेना की नौकरी से इस्तीफा दे दिया और अपने घर लौट आया. मगर दो दिन पहले मिलिट्री इंटेलिजेंस और मेरठ पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी की. राहुल के साथ उसका एक साथी बिट्टू भी गिरफ्तार किया गया है.

वर्दी, सेना के बैज और एक देसी पिस्टल बरामद

राहुल और बिट्टू के पास से पुलिस ने सेना की एक वर्दी, सेना के बैज और एक देसी पिस्टल बरामद की है. इस वर्दी और सामग्री का इस्तेमाल बिट्टू और राहुल ने सेना की भर्ती के नाम पर अभ्यर्थियों को प्रभावित करने के लिए किया करते थे. इस ठगी का शिकार गाजियाबाद के सुराना गांव का मनोज कुमार बना. राहुल ने बिट्टू और राजा के साथ मिलकर मनोज से 16 लाख रुपये की ठगी की.

यह है पूरा मामला 

मनोज से राहुल की मुलाकात फैजाबाद में सेना की भर्ती के दौरान 2019 में हुई थी. राहुल को सेना में नौकरी मिल गयी लेकिन मनोज इस भर्ती में चयनित ना हो सका. दोनों के बीच 2020 तक लगातार फोन पर बात होती थी. एक दिन राहुल ने सेना में नौकरी लगवाने का ऑफर मनोज कुमार को दिया तो उसने 8 लाख रुपए के बदले सेना में नौकरी का प्रस्ताव मान लिया. राहुल ने डाक के जरिये मनोज को सेना में नौकरी का नियुक्ति-पत्र भिजवाया.

मनोज खुश था तो उसने अपने भाई भीमसैन की सेना में नौकरी के बाबत राहुल से बात की. राहुल ने भीमसैन का नियुक्त पत्र भी डाक से राहुल को भिजवा दिया. इसके बाद मनोज ने राहुल को दो किश्तों में 16 लाख रुपए दे दिये. इसके बाद राहुल ने मनोज को ट्रेनिंग के लिए पठानकोट बुलाया और वहां पर उसका नियुक्ति पत्र ले लिया और उसे एक होटल में ठहरा दिया.

मनोज को दाल में कुछ काला लगा तो उसने वापसी का मन बनाया. पोल खुलती उससे पहले ही राहुल ने वीडियो कॉल के जरिये सेना का अफसर बताकर बिट्टू से बात कराई. वीडियो कॉल के वक्त बिट्टू अफसर की वर्दी में था. उसने मनोज से कहा कि अभी थोड़े दिन रूक जाओ. कोराना लॉकडाउन खत्म होने के बाद ज्वाइनिंग होगी.

ADVERTISEMENT

4 महीने तक सेना की बटालियन में संतरी की ड्यूटी

इसके एक महीने बाद मनोज फिर से पठानकोट पहुंचा तो राहुल ने सेना के किचेन हाउस में उसकी ड्यूटी लगवा दी. मनोज कुछ समझ पाता उससे पहले ही आरोपी राहुल ने कहा कि तेरी ड्यूटी बड़े साहब ने सुरक्षा पर लगा दी है. अब मेरे साथ राइफल ड्यूटी में रहना. इसके बाद मनोज करीब 4 महीने तक सेना की बटालियन में संतरी की ड्यूटी पर रहा. इस दौरान उसे इंसास राइफल भी मिलती थी.

इसी बीच राहुल ने मनोज को फिटनैस ट्रेनिंग के नाम पर कानपुर भेजा और यहां सेना भर्ती की तैयारी कराने वाली एक अकादमी में एडमिट करा दिया. यहां मनोज को राजा नाम का एक व्यक्ति मिला जो उसे बताता था कि फिटनेस ट्रेनिंग सेना में भर्ती होने के बाद की प्रक्रिया का हिस्सा है. लेकिन तब तक मनोज को पता लग चुका था कि वह ठगा जा चुका है.

मनोज ने घर आकर परिवार को पूरी बात बताई तो उसके पिता ने राहुल से बात की. राहुल ने पोल खुलने के बाद कुछ पैसे उसके खाते में डाल दिये. मनोज ने बाकी पैसे मांगे तो उसे जान से मारने की धमकी देकर राहुल ने मुंह बंद रखने की हिदायत दी.

दो आरोपी गिरफ्तार, तीसरे की तलाश जारी  

उधर, मिलिट्री इंटेलिजेंस को जब पूरे मामले का पता चला तो गोपनीय जांच शुरू हो चुकी थी. मिलिट्री इंटेलिजेंस ने पुलिस की मदद से राहुल और बिट्टू को मनोज की मदद से हिरासत में लेकर जब पूछताछ की तो पूरा मामला खुल गया. पुलिस ने मनोज की शिकायत पर मेरठ के दौराला थाने में केस दर्ज किया और दोनो को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस तीसरे आरोपी राजा की भी तलाश कर रही है.

संगीन धाराओं में केस दर्ज

मेरठ नगर के पुलिस अधीक्षक पीयूष सिंह के मुताबिक पूरी घटना में कई गंभीर पहलू भी है जो सेना से जुड़े हैं. मिलिट्री इंटेलिजेंस और सेना की अन्य इकाईयां इस मामले में तहकीकात कर रही है. जांच के दौरान इंसास राइफल के साथ संतरी ड्यूटी करते हुए मनोज का एक वीडियो भी है. पूरी जानकारी सेना से जुड़े लोगो को दी गयी है. पुलिस ने संगीन धाराओं में केस दर्ज कर लिया है.

(न्यूज इनपुट्स- नरेंद्र प्रताप)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Speaking truth to power requires allies like you.
Q-इनसाइडर बनें
450

500 10% off

1500

1800 16% off

4000

5000 20% off

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
Check Insider Benefits
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×