ADVERTISEMENT

बिहार: मधुबनी पत्रकार अविनाश झा की मौत मामले में प्रेस काउंसिल ने लिया संज्ञान

प्रेस काउंसिल ने मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए मुख्य सचिव और डीजी पुलिस, बिहार से रिपोर्ट मांगी है.

Published
<div class="paragraphs"><p>बिहार: पत्रकार अविनाश झा मौत मामले में प्रेस काउंसिल ने लिया स्वत: संज्ञान</p></div>
i

प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया (पीसीआई) ने बुधवार, 17 नवंबर को बिहार के एक पत्रकार अविनाश झा (Bihar Journalist Avinash Jha Murder) की मौत का स्वत: संज्ञान लेते हुए राज्य के मुख्य सचिव और डीजीपी से घटना पर रिपोर्ट मांगी.

पीसीआई के अध्यक्ष सी के प्रसाद ने एक आधिकारिक बयान में अविनाश झा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत पर चिंता व्यक्त की. पीसीआई ने एक बयान में कहा कि,

मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए उन्होंने मुख्य सचिव और डीजी पुलिस, बिहार से रिपोर्ट मांगी है.
ADVERTISEMENT

अब तक घटना में क्या-क्या हुआ ?

बिहार पुलिस ने बुधवार को मधुबनी के पत्रकार और आरटीआई कार्यकर्ता अविनाश झा उर्फ ​​बुद्धिनाथ के अपहरण और हत्या के मामले का खुलासा करने का दावा करते हुए कहा कि उनकी हत्या में 'लव एंगल' शामिल है.

पुलिस अब तक एक महिला पूर्णा कला देवी समेत छह लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. गिरफ्तार अन्य लोगों की पहचान रोशन कुमार, बिट्टू कुमार, दीपक कुमार, पवन कुमार और मनीष कुमार के रूप में हुई है.

हालांकि, पुलिस झा के परिवार द्वारा लगाए गए आरोपों की भी जांच कर रही है कि प्रतिष्ठानों की अवैध गतिविधियों के बारे में लिखने के चलते उनकी हत्या हुई है.

बिहार लोक शिकायत निवारण अधिनियम और RTI का उपयोग करते हुए, झा ने इस साल फरवरी में बेनीपट्टी और ढकजरी में 19 पैथोलॉजी लैब को “अवैध गतिविधियों” पर बंद कर दिया था.

एक स्थानीय वेबसाइट के लिए काम करने वाले झा को आखिरी बार 9 नवंबर को देखा गया था और शुक्रवार को सड़क किनारे उनका आधा जला हुआ शव मिला था.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT