ADVERTISEMENT

Varanasi:चावल चोरी में दलित नाबालिग की पीटकर हत्या का आरोप,अभी तक गिरफ्तारी नहीं

Varanasi Dalit Boy Death: इस मामले के बाद वाराणसी- भदोही मार्ग पर परिजनों ने शव के साथ विरोध प्रदर्शन किया.

Published
Varanasi:चावल चोरी में दलित नाबालिग की पीटकर हत्या का आरोप,अभी तक गिरफ्तारी नहीं
i

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) के कपसेठी थाना क्षेत्र में स्थित सुइलरा गांव में 21 जुलाई को अजीबो गरीब घटना सामने आई है. आरोप है की मुट्ठी भर चावल और आम के लिए गांव के दबंगों ने दलित नाबालिग बच्चे को इतना पीटा कि इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. इसके बाद शव के साथ परिजनों ने वाराणसी-भदोही मार्ग जाम लगा दिया. पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. फिलहाल मौके पर पुलिस तैनात है.

ADVERTISEMENT

क्या है पूरा मामला?

आप सोच सकते हैं की चार किलो चावल व आम चोरी के आरोप में किसी को इतना मारा पीटा जाए की उसकी मौत हो जाए. ऐसी दिल दहलाने वाली घटना वाराणसी के कपसेठी थाना क्षेत्र के सुइलरा गांव में हुई है, जहां दलित नाबालिग की बुरी तरह पिटाई की गई.

सुइलरा गांव के पप्पू राम का बेटा विजय कुमार गौतम 14 साल का है और आठवीं क्लास में पढ़ता है. वो पिछले 21 जुलाई को गांव के ही गुड्डू सिंह के किराना की दुकान पर गया था. आरोप है कि गुड्डू सिंह, पखंडू, सौरभ सिंह व शिवम सिंह ने विजय पर आम और चार किलो चावल चोरी का आरोप लगाते हुए उसे अपने घर में बंद करके मारपीट की. इसके बाद उसे धमकी दी गई कि किसी से शिकायत की तो फिर मारेंगे.

मारपीट किए जाने के बाद वो गम्भीर रूप से घायल हो गया था, इसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान 31 जुलाई की दोपहर में उसकी मौत हो गई.

आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने आरोपियों पर हत्या का मुकदमा और गिरफ्तारी के लिए वाराणसी-भदोही मार्ग पर शव रखकर जाम लगा दिया.

ADVERTISEMENT

इस मामले के बाद वाराणसी- भदोही मार्ग और कछवा, बाबतपुर मार्ग पर वाहनों की कतार लग गई. सूचना पर पहुंचे सीओ सदर व सीओ बड़ागांव ने ग्रामीणों को समझाबुझा कर शांत कराया. मृतक के पिता पप्पू राम का आरोप है कि आरोपी सौरभ ने डायल 112 पर कॉल करके पुलिस कर्मियों को बुलवाया. पुलिस मौके पर आई भी थी और समझा बुझाकर चली गई थी.

गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज

कपसेठी पुलिस ने शव को कब्जे में लेने के बाद पिता की तहरीर पर चार के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है. तनाव को देखते गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है. परिजनों के मुताबिक विजय अपने दो भाई व दो बहनों में सबसे बड़ा था.

सीओ बड़ागांव ने बताया कि,

मुकदमा दर्ज करने के बाद से गिरफ्तारी का प्रयास जारी है. हालांकि अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किसी तरह की चोट की बात सामने नहीं आई है.
ADVERTISEMENT

बड़े भाई ने पुलिस पर लगाया आरोप

पप्पू राम के बड़े बेटे और मृतक के बड़े भाई सतीश कुमार ने आरोप लगाया है कि ठाकुर जाति के लड़कों ने जबरन उसके भाई विजय को सड़क से उठाकर अपने घर में बंद किया था. इतनी बुरी तरीके से पीटा था कि वह बेसुध हो गया था. जब वह होश में आया तो लड़कों के गार्जियन ने उसे पैसे देकर धमकी दी कि घर में अगर किसी को बताया तो जान से मार देंगे.

उसकी मौत के बाद मुकदमा दर्ज होने के बावजूद भी पुलिस गिरफ्तारी नहीं कर पा रही है. ऐसे में न्याय की उम्मीद करना बेईमानी होगी. पुलिस प्रशासन से अपील की है कि उसके मृतक भाई को न्याय मिले.
सतीश कुमार, मृतक का बड़ा भाई

(इनपुट- चंदन पांडेय)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और crime के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  Varanasi   Uttar Pradesh 

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×