‘जय श्री राम का नारा नहीं लगाया, तो मुझे ट्रेन से बाहर फेंक दिया’

‘जय श्री राम का नारा नहीं लगाया, तो मुझे ट्रेन से बाहर फेंक दिया’

क्राइम

पश्चिम बंगाल के एक 26 साल के मदरसा टीचर हाफिज मोहम्मद शाहरुख हलदार का आरोप है कि 'जय श्री राम' का नारा न लगाने पर उन्हें 20 जून को लोगों ने चलती ट्रेन से धक्का दे दिया. फिलहाल, पीड़ित टीचर की हालत ठीक है. उन्हें हल्की चोटें आई हैं.

Loading...

हाफिज ने कहा, "मैं हुगली जा रहा था. उस वक्त कम्पार्टमेंट में लोगों का एक समूह जय श्री राम के नारे लगा रहा था. उन्होंने मुझसे भी यह नारा लगाने को कहा. जब मैंने ऐसा करने से इनकार कर दिया तो वो मुझे पीटने लगे. कोई भी मुझे बचाने नहीं आया."

द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, हलदार ने बताया कि यह घटना तब हुई जब ट्रेन धकुरिया और पार्क सर्कस स्टेशन के बीच थी. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि लोगों के समूह ने उन्हें पार्क सर्कस स्टेशन पर ट्रेन से धक्का दे दिया. ये घटना (कैनिंग-सियालदाह) ट्रेन नंबर 34531 में हुई.

पुलिस ने कहा, “ट्रेन में चढ़ने और उतरने को लेकर उसके साथ मारपीट हुई. हम मामले की जांच कर रहे है. अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.”

पुलिस ने आईपीसी की धारा 341, 323, 325, 506, और 34 के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. पुलिस ने आश्वासन देते हुए कहा है कि दोषी लोगों की पहचान के बाद उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें : मोदी राज में मुस्लिम क्या करें? राजनीति से भागें नहीं, इसे अपनाएं

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our क्राइम section for more stories.

क्राइम
    Loading...