क्या CBSE क्लास 9 और 11 के लिए एग्जाम होंगे? नियम क्या हैं?

CBSE ने स्कूलों के दोबारा खुलने पर क्या कहा?

Published
CBSE ने स्कूलों के दोबारा खुलने पर क्या कहा?
i

स्कूलों के नया अकादमिक सत्र शुरू करने और नॉन-बोर्ड क्लासेज के एग्जाम कराने को लेकर कई सवाल हैं. इनके जवाब सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने दिए हैं. बोर्ड ने स्कूलों से कहा है कि वो इस साल 1 अप्रैल से 2021-22 अकादमिक सत्र शुरू कर सकते हैं.

बोर्ड ने एक सर्कुलर जारी कर सभी प्रिंसिपलों से कहा, "अकादमिक सत्र 2021-22 1 अप्रैल से शुरू करना उपयुक्त रहेगा. ये कदम राज्य सरकार के निर्देशों के अधीन है."

CBSE ने स्कूलों के दोबारा खुलने पर क्या कहा?

सर्कुलर के मुताबिक, बोर्ड ने कहा कि COVID-19 की स्थिति में सुधार की वजह से अधिकतर राज्यों में स्कूल ऑफलाइन क्लासेज के लिए खुल गए हैं.

जिन राज्यों में स्कूल नहीं खुले हैं, उनके लिए CBSE ने कहा, "ऐसी उम्मीद है कि दूसरे राज्य/केंद्र शासित प्रदेशों में भी स्कूल खुल जाएंगे."

क्या क्लास 9 और 11 के लिए एग्जाम होंगे?

हां. बोर्ड ने स्कूलों से लर्निंग गैप्स पहचानने और उन्हें ठीक करने को लेकर कदम उठाने को कहा है. इसके बाद स्कूलों से 'COVID सेफ्टी प्रोटोकॉल्स का पालन' करते हुए क्लास 9 और 11 के लिए एग्जाम कराने को कहा है.

बोर्ड का मानना है कि क्लास 9 और 11 के लिए एग्जाम कराने से स्कूलों को समझ आएगा कि बच्चे किस एरिया में पीछे छूट रहे हैं, जिससे नए अकादमिक सत्र में खास तरह के कोर्सेस से इनका समाधान किया जा सकेगा.

क्लास 11 के लिए पासिंग क्राइटेरिया क्या है?

छात्रों को अगली क्लास में प्रमोशन के लिए कम से कम पांच विषयों में पास होना होगा. अगर कोई छात्र क्लास 11 में एक विषय में फेल होता है, तो उसे कम्पार्टमेंट एग्जाम देने की इजाजत मिलेगी. अगर वो एग्जाम पास करता है तो क्लास 12 में प्रमोट किया जाएगा.

सर्कुलर में क्या कहा गया?

CBSE ने कहा कि स्कूल छात्रों को क्लासेज में वेलकम करने के लिए पूरी तरह से तैयार हों. बोर्ड का कहना है कि इससे छात्रों को प्रैक्टिकल पूरे करने और एग्जाम के लिए तैयारी में मदद मिलेगी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!