एक साल LL.M पाठ्यक्रम रद्द करने का नियम 2022-23 से लागू होगा: BCI

BCI to supreme court: बीसीआई के इन नए नियमों में एक वर्षीय एलएलएम पाठ्यक्रम को समाप्त करने की बात कही गई थी.

Published
BCI to SC: एक वर्षीय LL.M पाठ्यक्रम रद्द करने का नियम 2022-23 से लागू होगा 
i

BCI to SC: बार काउंसिल ऑफ इंडिया (BCI) ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा कि एक वर्षीय एलएलएम पाठ्यक्रम समाप्त करने वाले बीसीआई नियम को इस वर्ष लागू नहीं किया जाएगा.

बीसीआई प्रेसिडेंट मनन कुमार मिश्रा ने अदालत के समक्ष कहा, बीसीआई के नियमों में एक वर्षीय एलएलएम पाठ्यक्रम समाप्त करने का प्रस्ताव शैक्षणिक वर्ष 2022-2023 से लागू किया जाना प्रस्तावित है.

कंसोर्टियम ऑफ नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता डॉ. अभिषेक मनु सिंघवी ने बताया कि बीसीआई अध्यक्ष का यह आश्वासन इस साल के बारे में विश्वविद्यालयों की आशंकाओं को दूर करेगा.

सुनवाई कर रही पीठ में जस्टिस एएस बोपन्ना और जस्टिस वी रामसुब्रमण्यन भी शामिल थे. पीठ ने बीसीआई और अन्य को नोटिस जारी कर चार हफ्तों के अंदर उनका जवाब भी मांगा है. एनएलयू ने अपनी याचिका के जरिए 2020 के नियमों को रद्द करने का अनुरोध किया है.

पीठ कंसोर्टियम ऑफ नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज और दो अन्य द्वारा दायर याचिकाओं में बार काउंसिल ऑफ इंडिया के नए नियमों को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई कर रही थी. बीसीआई के इन नए नियमों में एक वर्षीय एलएलएम पाठ्यक्रम को समाप्त करने की बात कही गई थी.

कोर्ट बार काउंसिल ऑफ इंडिया लीगल एजुकेशन (पोस्ट ग्रेजुएट, डॉक्टोरल, एग्जीक्यूटिव, वोकेशनल, क्लिनिकल एंड अदर कंटीन्यूइंग एजुकेशन) रूल्स, 2020 के खिलाफ एक साल की एलएल को रद्द करते हुए याचिकाओं पर सुनवाई कर रही थी.

नियमों में यह भी कहा गया है कि विदेशी एलएलएम डिग्री भारत में एलएलएम के बराबर ही होगी, यदि इसे किसी विदेशी या भारतीय विश्वविद्यालय से एलएलबी की डिग्री प्राप्त करने के बाद लिया जाता है, जो भारत में मान्यता प्राप्त एलएलबी डिग्री के बराबर है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!