ADVERTISEMENT

Etah पुलिस पर आरोप- चोरी के शक में 2 बच्चों को हिरासत में रखा

Etah:पुलिस ने बताया- ये बच्चों का गैंग मध्यप्रदेश से आया हुआ है, ये बच्चे शातिर हैं. इससे पहले भी SBI से चोरी हुई थी

Published
न्यूज
3 min read
Etah पुलिस पर आरोप- चोरी के शक में 2 बच्चों को हिरासत में रखा
i

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के एटा (Etah) जिले के अलीगंज (Aliganj) थाने में पुलिस ने दो बच्चों को हिरासत (Children in Custody) में लिया है. इन दोनों की उम्र 8 और दूसरे की 10 साल है. दोनों बच्चे कचरा उठाने का काम करते हैं, पुलिस ने इन्हें बैंक में चोरी के शक में पकड़ लिया. थाने में बैठे मासूमों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है.

ADVERTISEMENT

क्या है पूरा मामला?

मामला अलीगंज थाने का है, जहां 19 जुलाई को भारतीय स्टेट बैंक के रेड जोन एरिया से कैशियर की खिड़की से करीब 5 लाख 19 हजार की रकम चोरी हो गयी थी, जिसके बाद कैशियर के खिलाफ केस दर्ज करवाया गया था. पुलिस द्वारा जांच में पाया गया कि इसके पीछे जो लोग थे, उनका कद बच्चों के कद के बराबर है.

सूत्रों के मुताबिक पुलिस पिछले चार-पांच दिनों से कुछ बच्चों को हिरासत में लेती है और छोड़ देती है. इस बीच 27 जुलाई को थाने में बैठे हुए दो बच्चों का वीडियो वायरल हो गया, जिसमें देखा जा सकता है कि बच्चे काफी डरे हुए हैं. एक बच्चे की उम्र महज 8 साल बताई गई है, वहीं दूसरे बच्चे की उम्र 10 साल बताई गई है.

जब क्विंट हिंदी की टीम हिरासत में लिए गए बच्चों के घर पहुंचीं, तो पता चला कि इन बच्चों को हिरासत से रिहा कर दिया गया था, अपने घर भी यह बच्चे डरे हुए लग रहे थे. यह बच्चे चमन नगरिया स्थित डेरो पर रहते हैं.
ADVERTISEMENT

हिरासत में लिए गए बच्चों और उनके परिजनों का क्या कहना है?

हिरासत में लिए गए 8 साल के बच्चे हजरत की मां सवीना ने बताया कि, "हमारे बच्चे को पुलिस ने 3 बजे के लगभग पकड़ा था, जिस समय हमारा बेटा कबाड़ा बीनने के लिए अलीगंज पहुंचा था. पकड़ने के बाद उन्हें थाने में बैठा लिया गया, जिसके बाद हमारे बच्चे को शाम 7 बजे के लगभग छोड़ा है."

पीड़ित बच्चे हजरत ने बताया कि, पुलिस वाले किसी एक अन्य बच्चे के साथ मारपीट कर रहे थे और वह चिल्ला रहा था. बच्चे के चीखने और चिल्लाने की आवाज से वह डरने लगा था.

"फरीद इस समय अपनी नानी के घर पर रहता है वह कचरा उठाने के लिए जाता है, पुलिस ने फरीद को बंगला स्थित अंग्रेजी शराब की दुकान के सामने से उठाया था, हमारे बच्चे के ऊपर पुलिस रुपये चोरी करने का इल्जाम लगा रही थी. मैं थाने गई तो वहां पुलिस ने मेरे साथ अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए भगा दिया और बोले तू चोरी करवाती है. मेरा भतीजा तो केवल कबाड़ उठाने के लिए गया था."
पीड़ित बच्चे फरीद की बुआ पिंकी

फरीद का कहना है कि पुलिस ने उसे और एक और साथी को तीन बजे के लगभग उठाया था और 4 घंटों के लिए बंद रखा था, जहां पर एक अन्य बच्चे के साथ की जा रही मारापीट की आवाजें सुनकर वह डर गया था.

हालांकि थाने में किस बच्चे के साथ मारपीट चल रही थी, इसकी जानकारी अब तक नहीं मिली है.

ये बच्चों का गैंग मध्यप्रदेश से आया हुआ है, आज भी एक बच्चा गल्ला व्यापारी की बाइक की डिक्की से लाखों रुपए की रकम चोरी करने वाला था, जिसे रंगे हाथों पकड़ा गया है. ये बच्चे शातिर किस्म के हैं. इससे पहले भी स्टेट बैंक से चोरी हुई थी.
राजकुमार सिंह, सर्कल ऑफिसर, अलीगंज

एटा पुलिस ने ट्वीट कर बताया है कि, "27 जुलाई को थाना अलीगंज क्षेत्र के अन्तर्गत एक किशोर को बैंक से रुपए निकालकर आए व्यक्ति का बैग चुराने का प्रयास करते हुए पकड़ा गया जिसे किशोर न्यायालय बोर्ड (जुवेनाइल बोर्ड) के समक्ष पेश किया गया है, अन्य दो बच्चों को शक के आधार पर लाकर बाद में पूछताछ कर छोड़ दिया गया था."

ADVERTISEMENT

क्या पुलिस बच्चों को हिरासत में ले सकती है? 

इस पूरे मामले पर वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत पुंढीर बताते हैं कि, "पुलिस को किसी भी बच्चे को हिरासत में लेने का कोई अधिकार नहीं है, पुलिस को सबसे पहले बाल कल्याण समिति और जुवेनाइल बोर्ड से अनुमति लेनी होती है. इसके बाद ही पुलिस बच्चों के साथ पूछताछ या हिरासत में ले सकती है, लेकिन इस पूरे घटना क्रम में तो लग रहा है. पुलिस ने अपने खुद के नियम बना लिए हैं, मुझे लग रहा है पुलिस ने तो इस मामले में किसी भी बच्चे की जीडी पर भी एंट्री नहीं की होगी."

इनपुट क्रेडिट- शुभम श्रीवास्तव

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Speaking truth to power requires allies like you.
Q-इनसाइडर बनें
450

500 10% off

1500

1800 16% off

4000

5000 20% off

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
Check Insider Benefits
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×