ADVERTISEMENT

अमित खरे बने PM मोदी के सलाहकार: चारा घोटाला के खुलासे से शिक्षा नीति तक योगदान

दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज और IIM अहमदाबाद से पढ़ाई कर चुके हैं अमित खरे

Updated
भारत
2 min read
<div class="paragraphs"><p>अमित खरे</p></div>
i

भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण और शिक्षा जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालयों में सचिव की जिम्मेदारी संभाल चुके आईएएस अधिकारी अमित खरे (Amit Khare) को प्रधानमंत्री मोदी ने अपना नया सलाहकार नियुक्त किया है. प्रधानमंत्री के सलाहकार के तौर पर अमित खरे का पद भारत सरकार में सचिव के बराबर होगा.

बतौर प्रशासनिक अधिकारी 30 सितंबर को रिटायर हुए अमित खरे को 12 दिन बाद ही प्रधानमंत्री कार्यालय में इस महत्वपूर्ण पद पर नियुक्त कर दिया गया है.
ADVERTISEMENT

खरे की उपलब्धियां

झारखंड कैडर के 1985 बैच के आईएएस अधिकारी अमित खरे ने दिसंबर 2019 में शिक्षा मंत्रालय में सचिव का कार्यभार संभाला था. शिक्षा मंत्रालय के सचिव के तौर पर 34 वर्षों बाद देश में नई शिक्षा नीति (NEP) को लागू करने में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. उच्च शिक्षा के क्षेत्र में भी कई क्रांतिकारी बदलाव का श्रेय उन्हें दिया जाता है.

इससे पहले सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में सचिव के तौर पर डीडी के एक दर्जन सैटेलाइट चैनल लांच करने, डिजिटल मीडिया और ओटीटी प्लेटफॉर्म के बारे में नीति बनाने में भी अमित खरे की महत्वपूर्ण भूमिका रही है. खरे ने 2018-19 में सूचना और प्रसारण सचिव के रूप में काम किया और सितंबर में रिटायर हो गए. उन्हें अप्रैल 2020 में सचिव के रूप में फिर से नियुक्त किया गया.

चारा घोटाले में दर्ज की थी एफआईआर

36 वर्षों के प्रशासनिक करियर में अमित खरे के नाम कई उपलब्धियां दर्ज हैं. चाईबासा के उपायुक्त के तौर पर चारा घोटाले के मामले में पहली एफआईआर उन्होंने ही दर्ज कराई थी. चारा घोटाले में ही लालू यादव को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देकर जेल तक जाना पड़ा था.

द प्रिंट की रिपोर्ट के मुताबिक, जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) की हॉस्टल फीस में बढ़ोतरी को लेकर हुए प्रदर्शन को शांत करने में भी खरे की भूमिका रही है. खरे ने JNU के वाइस चांसलर एम जगदीश कुमार से मुलाकात की थी, जिसके बाद बढ़ी फीस को वापस ले लिया गया था.

दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज से बीएससी (फिजिक्स) में ग्रेजुएट होने वाले खरे ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (IIM) अहमदाबाद से एमबीए की पढ़ाई की है.

(IANS के इनपुट्स के साथ)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT