CISF का निर्देश-सोशल मीडिया पर सुरक्षाकर्मी न करें सरकार की आलोचना

इन निर्देशों का पालन न करने पर कड़ी कार्रवाई की बात कही गई है

Published02 Aug 2020, 02:54 AM IST
भारत
2 min read

एक विवादास्पद फैसले में सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स (सीआईएसएफ) ने शुक्रवार को अपने कर्मचारियों के लिए सोशल मीडिया से संबंधित निर्देश जारी किए हैं. इसके तहत सुरक्षाबलों से सरकारी नीतियों की सोशल मीडिया पर आलोचना न करने का आदेश दिया गया है. इसका पालन न करने की स्थिति में गंभीर कार्रवाई की बात कही गई है.

सुरक्षाबलों से उनकी फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और दूसरे अकाउंट की आईडी जमा करने को कहा गया है. अगर सुरक्षाकर्मियों में से कोई नई आईडी बनाता है, तो उसकी जानकारी भी डिपार्टमेंट में देने को कहा गया है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक गाइडलाइन में कहा गया, "साफ दिशा-निर्देशों के बावजूद कई ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिनमें सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के जरिए सुरक्षाबलों ने राष्ट्र और संगठन से जुड़ी संवेदनशील जानकारियों को साझा किया है और सरकारी नीतियों की आलोचना की है."

गाइडलाइन के तहत, जवानों से कहा गया है कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल चेन ऑफ कमांड को बायपास करने के लिए नहीं किया जा सकता, किसी दिक्कत को बताने के लिए सही चैनल से गुजरना होगा.

बता दें सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स (CAPF) में सीधे भर्ती होने वाले अधिकारी, पिछले दो सालों से प्रमोशन और वेतन संबंधी मामलों में IPS अधिकारियों के बराबर का फायदा दिए जाने की अपील करते हुए फेसबुक और ट्विटर पर कैंपेन चला रहे हैं.

पिछले महीने भारतीय सेना ने अपने सैनिकों से 89 ऐप्स का इस्तेमाल न करने का निर्देश दिया था. इनमें फेसबुक, ट्विटर, टिकटॉक, टिंडर और पबजी जैसे ऐप्स शामिल थे. यह फैसला सरकार द्वारा 59 ऐप्स को प्रतिबंधित किए जाने के बाद लिया गया था, जिनमें से ज्यादातर चाइनीज थे.

पढ़ें ये भी: योगी सरकार का फैसला: लॉकडाउन में खुलेंगी राखी-मिठाई की दुकान

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!