अहमदाबाद,MP के जिलों में नाइट कर्फ्यू, इन राज्यों में स्कूल पर रोक

कोरोना केसों की बढ़ती संख्या के बीच किस राज्य में क्या हलचल है यहां जानते हैं-

Updated
भारत
2 min read
दिल्ली में ‘कोरोना’ का खौफ कितना बड़ा है, 5 संकेत समझिए
i

दिल्ली में कोरोना वायरस से मौतों की बढ़ती संख्या परेशानी का सबब बन गई है. कोरोना वायरस के केस भी अचानक से बढ़े हैं, सिर्फ दिल्ली ही नहीं अलग-अलग राज्यों में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखकर राज्य सरकारें एक बार फिर चौकसी के मूड में हैं. कई राज्यों के शहरों में नाइट कर्फ्यू लागू किया जा रहा है तो कुछ राज्यों में स्कूलों को खोलने का फैसला वापस ले लिया गया है. आंकड़ों की बात करें तो देश में कोरोना मामलों की संख्या 90 लाख के पार पहुंच चुकी है. 20 नवंबर को जारी आंकड़ों के मुताबिक, कुल मामलों की संख्या 90,04,365 हो गई है. वहीं कोरोना से हुई मौतों की संखा 1,32,162 हो गई है.

कोरोना केसों की बढ़ती संख्या के बीच किस राज्य में क्या हलचल है यहां जानते हैं-

  • मध्य प्रदेश के भोपाल, ग्वालियर, विदिशा और रतलाम जिलों में 21 नवंबर से रात के 10 बजे से सुबह 6 बजे तक के कर्फ्यू का ऐलान सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किया है.

  • गुजरात सरकार ने कोरोनावायरस की स्थिति के मद्देनजर अहमदाबाद में शुक्रवार रात नौ बजे से 60 घंटे के लिए कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने शुक्रवार को कहा, "लॉकडाउन का कोई सवाल ही नहीं है. कर्फ्यू केवल दो दिनों तक सीमित है."

  • गुजरात के सूरत, वडोदरा और राजकोट में भी लगाया गया नाइट कर्फ्यू

  • छात्रों के बीच कोरोनोवायरस मामलों में अचानक आई तेजी के साथ, हरियाणा सरकार ने शुक्रवार को राज्य के सभी सरकारी और निजी स्कूलों को 30 नवंबर तक बंद करने का आदेश दिया है. हरियाणा के स्कूलों में छात्रों की कोरोना की जांच की गई, जिसमें 300 से अधिक छात्र कोरोना संक्रमित पाए गए थे.

  • बीएमसी ने मुंबई में कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए ऐहतियात के तौर पर शुक्रवार को सभी स्कूलों को 31 दिसंबर तक बंद रखने का आदेश दिया है.कोरोना प्रकोप शुरू होने के बाद से ही देश में मुंबई सबसे ज्यादा प्रभावित हुई है. यहां 10,627 मौतें हुईं और 2,72,455 मामले सामने आए. अब यहां राज्य और नागरिक प्राधिकरण ने दूसरी लहर की आशंका जताई है.

  • गुजरात में भी 23 नवंबर से स्कूल खुलने वाले थे. लेकिन गुजरात सरकार ने भी राज्य में कोरोना के मामले बढ़ते देख स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों को फिर से खोलने के निर्णय को वापस ले लिया है.

  • ओडिशा ने भी 16 नवंबर से स्कूल खोलने की अपने फैसले को टाल दिया है. ओडिशा में भी अब 31 दिसंबर तक स्कूल बंद रहेंगे.

  • तमिलनाडु, हिमाचल प्रदेश, मिजोरम जैसे राज्यों में भी स्कूल खोलने का फैसला टाल दिया गया है.

  • केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा दिल्ली के पीतमपुरा में आयोजित हुनर हाट कोरोना के बढ़ते संक्रमण की भेंट चढ़ गया. 11 नवंबर से आयोजित हुआ ये हुनर हाट 22 नवंबर तक चलना था. लेकिन दिल्ली में बढ़ते संक्रमण के चलते, ऐहतियातन इसे दो दिन पहले ही बंद करना पड़ा.

  • इस बीच सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के सीईओ आदर पूनावाला ने कहा है कि साल 2024 तक हर भारतीय तक कोरोना की वैक्सीन पहुंच जाएगी. मीडिया सम्मेलन में बात करते हुए पूनावाला ने कहा कि ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका कोविड-19 वैक्सीन अगले साल फरवरी तक स्वास्थ्य कर्मियों और बुजुर्गो के लिए उपलब्ध कराई जाएगी और आम नागरिकों तक यह अप्रैल से मिलनी शुरू हो जाएगी.

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!