ऑक्सफोर्ड वैक्सीन का इंग्लैंड में ट्रायल फिर शुरू, भारत पर असमंजस

ऑक्सफोर्ड कोरोना वैक्सीन के ट्रायल में शामिल एक वॉलिंटियर पर हुआ था बुरा असर, रुके थे ट्रायल

Published
भारत
2 min read
ऑक्सफोर्ड कोरोना वैक्सीन के ट्रायल में शामिल एक वॉलिंटियर पर हुआ था बुरा असर, रुके थे ट्रायल
i

दुनियाभर में बढ़ते कोरोना मामलों के बीच कई देशों में इसकी वैक्सीन तैयार की जा रही है, हालांकि अब तक लगभग सभी वैक्सीन ट्रायल फेज में ही हैं. इसी बीच ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्रा जेनिका की वैक्सीन का ट्रायल एक बार फिर शुरू हो चुका है. लेकिन अब तक सिर्फ यूके ने ही अपनी इस वैक्सीन का ट्रायल दोबारा शुरू किया है, बाकी देशों में अब भी ऑक्सफोर्ड वैक्सीन के ट्रायल पर रोक जारी है.

क्यों बंद हुए थे ट्रायल?

बता दें कि पिछले हफ्ते इस वैक्सीन के ट्रायल इसलिए रोक दिए गए थे, क्योंकि ट्रायल में हिस्सा लेने वाले एक शख्स पर इसके साइड इफेक्ट देखने को मिले थे और उसकी तबीतय बिगड़ गई थी. कुछ रिपोर्ट्स में ये भी बताया गया था कि ट्रायल में शामिल हुए इस वॉलिंटियर के स्पाइनल कॉर्ड में इसका असर पड़ा था. जिसके बाद एक्सपर्ट्स की टीम ने वैक्सीन के ट्रायल पर रोक लगाने की सलाह दी थी. लेकिन शनिवार को ये जानकारी दी गई कि यूके में इस वैक्सीन के ट्रायल को एक बार फिर मंजूरी मिल गई है और यहां आगे के ट्रायल शुरू हो चुके हैं.

सेफ्टी रिव्यू को लेकर कोई जानकारी नहीं

हालांकि वैक्सीन के रिव्यू को लेकर अब तक कुछ भी साफ नहीं है. एस्ट्रा जेनिका की तरफ से बताया गया था कि यूके के ड्रग रेगुलेटर की तरफ से हरी झंडी मिलने के बाद ही वैक्सीन का दोबारा ट्रायल शुरू किया गया है. वहीं ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की तरफ से भी कहा गया कि वैक्सीन को लेकर जो भी शक था उसके लिए तमाम तरह के सेफ्टी रिव्यू होने के बाद ही ट्रायल शुरू किए गए हैं.

लेकिन इस बयान में ये नहीं बताया गया कि एक्सपर्ट्स को साइड इफेक्ट होने वाले वॉलिंटियर में क्या नजर आया और क्या ऐसे बदलाव किए गए हैं, जिसके बाद ट्रायल फिर से शुरू किए जा रहे हैं.

बाकी देशों में कब हटेगी रोक?

अब एक और सवाल उठ रहा है कि भले ही यूके ने अपने यहां ट्रायल एक बार फिर शुरू कर दिए हैं. लेकिन भारत समेत जो बाकी देश इस वैक्सीन का ट्रायल कर रहे थे, उनका क्या होगा? वहां कब तक ये ट्रायल का प्रोसेस शुरू हो जाएगा.

बता दें कि भारत के अलावा अमेरिका, ब्राजील और साउथ अफ्रीका में भी ऑक्सफोर्ड की इस वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है. इन तीनों देशों में इस वैक्सीन के ट्रायल का तीसरा फेज चल रहा है, जबकि भारत और यूके में दूसरे और तीसरे फेज के ट्रायल एक साथ हो रहे हैं.

बता दें कि भारत में सीरम इंस्टीट्यूट इस वैक्सीन का ट्रायल कर रहा है. लेकिन यूके में एक वॉलिंटियर को लेकर ऐसी खबर आने के बाद भारत के ड्रग कंट्रोलर डीसीजीआई ने एक नोटिस भेजकर इस ट्रायल पर रोक लगाने की बात कही थी. जिसके बाद सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने ट्रायल रोक दिए और कहा कि जब तक डीसीजीआई की तरफ से उन्हें निर्देश नहीं मिलते हैं, तब तक ट्रायल शुरू नहीं किया जाएगा. लेकिन अब तक डीसीजीआई की तरफ से भी वैक्सीन ट्रायल शुरू करने को लेकर कोई जानकारी नहीं दी गई है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!