भारत-चीन सीमा विवाद के बीच आज चुशूल में फिर हो रही है बातचीत

दोनों देशों के बीच पिछले काफी वक्त से तनाव चल रहा है.

Updated30 Jun 2020, 06:40 AM IST
भारत
2 min read

चीन के साथ LAC पर चल रहे संकट के बीच मंगलवार को एक बार फिर दोनों देशों के बीच बातचीत हो रही है. दोनों देशों के बीच पिछले काफी वक्त से तनाव चल रहा है और 15 जून को हुई झड़प के बाद दोनों देशों के रिश्तें में और खटास आ गई.

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास चल रहे विवाद को सुलझाने के लिए चुशूल में भारत और चीन की सेनाओं के बीच कॉर्प्स कमांडर-स्तर की बैठक चल रही है

बातचीत का नेतृत्व भारत की तरफ से 14 कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह कर रहे हैं. वहीं चीन की तरफ से दक्षिण जिनजियांग मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट के प्रमुख मेजर जनरल लियू रहेंगे. 

चुशूल में पहली बार बैठक हो रही है, इससे पहले दोनों देशों के बीच कोर कमांडर लेवल की दो बैठक मोलडो में हुई थी.

पिछले साल जब आर्टिकल 370 को बेअसर करने और लद्दाख को अलग केंद्र शासित प्रदेश बनाने का ऐलान किया था, उसके कुछ समय बाद ही सितंबर में लद्दाख में पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे पर चीन के साथ तनाव के संकेत मिलने शुरू हो गए थे. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, पिछले साल 11 सितंबर को एक झड़प के बाद से, जिसमें 10 भारतीय जवान घायल हो गए थे . चीनी पक्ष झील के उत्तरी किनारे पर भारतीय गश्त को फिंगर 8 की ओर जाने से रोकने की कोशिश कर रहा था. भारत का कहना है कि क्षेत्र में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) फिंगर 8 के साथ स्थित है, जबकि चीन पश्चिम की तरफ कुछ किलोमीटर आगे इसके होने का दावा करता है.

तनाव कम करने के लिए बातचीत का सिलसिला चल रहा था, उसी बीच 15-16 जून की रात गलवान घाटी में भारत-चीन के सैनिकों के बीच खूनी संघर्ष हो गया. जिसमें भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए वहीं चीन के 40 सैनिकों के हताहत होने की भी खबर है. हालांकि चीन ने अभी तक इसकी पुष्टि नहीं की है.

ये भी पढ़ें- चीन संकट: भारत के पास अमेरिकी मदद के अलावा क्या हैं विकल्प?

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 30 Jun 2020, 04:14 AM IST

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर को और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!