हैशटैग ResignModi फेसबुक ने किया ब्लॉक, हल्ला मचा तो किया रिस्टोर

कुछ लोगों ने #Anti_India_Facebook के साथ इस मुद्दे पर ट्वीट किया

Updated
भारत
2 min read
हैशटैग ResignModi फेसबुक ने किया ब्लॉक, हल्ला मचा तो किया रिस्टोर

देश में कोविड संकट तेज होने के बाद से अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी बढ़ती जा रही है. लोग केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना कर रहे हैं. हैशटैग #ResignModi सोशल मीडिया पर काफी ट्रेंड हो रहा है. लेकिन 28 अप्रैल को फेसबुक ने इस हैशटैग को कुछ समय के लिए ब्लॉक कर दिया. फेसबुक के इस कदम से जब विवाद खड़ा हुआ तो कुछ ही घंटों में इसे रिस्टोर कर दिया गया.

28 अप्रैल को जब फेसबुक ने इस हैशटैग को ब्लॉक किया तो सोशल मीडिया यूजर्स को 12,000 से ज्यादा पोस्ट्स दिखने बंद हो गए. इन पोस्ट्स में कोविड संकट के लिए सरकार की आलोचना की गई थी.  

कई फेसबुक यूजर ने हैशटैग ब्लॉक को लेकर ट्विटर पर शिकायत की.

ब्लॉक के दौरान लोगों ने जब हैशटैग #ResignModi सर्च किया तो उन्हें ये मेसेज दिखाई दिया- 'ये पोस्ट्स अस्थायी रूप से छुपाए गए हैं क्योंकि इनमें से कुछ कंटेंट हमारे कम्युनिटी स्टैंडर्ड्स के खिलाफ है.'

फेसबुक ने क्या कहा?

फेसबुक के एक प्रवक्ता ने पुष्टि की थी कि हैशटैग ब्लॉक हो जाना 'संयोगवश' था और इसे रिस्टोर कर दिया गया है. प्रवक्ता ने कहा कि ब्लॉक का निर्देश भारत सरकार से नहीं मिला था.

प्रवक्ता ने कहा, "हमने गलती से इस हैशटैग को आस्थायी रूप से ब्लॉक कर दिया था. हमें भारत की सरकार ने ऐसा करने को नहीं कहा था. अब इसे रिस्टोर कर दिया गया है."

फेसबुक के कम्युनिकेशन्स डिपार्टमेंट के एंडी स्टोन ने ट्विटर पर कहा कि ‘असल में क्या हुआ था, इसे देखा जा रहा है.’

'क्या ऐसा लोकतंत्र में होता है?'

फेसबुक के कुछ समय के लिए हैशटैग को ब्लॉक करने के बाद सोशल मीडिया यूजर ने ट्विटर पर इसे लेकर नाराजगी जताई. कई लोगों ने फेसबुक की इस हरकत पर सवाल किया, तो कुछ ने पूछा कि 'क्या लोकतंत्र में ऐसा होता है?'

कुछ लोगों ने #Anti_India_Facebook के साथ इस मुद्दे पर ट्वीट किया.

इससे पहले माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर ने 52 ट्वीट्स को सेंसर कर दिया था. ये ट्वीट्स कोरोना वायरस को लेकर किए गए थे. अब इन ट्वीट्स को लेकर एक रिव्यू में सामने आया है कि इसमें भारत में कोरोना वायरस संकट पर गौर किया गया और इसे संभालने में नाकाम रही मोदी सरकार की आलोचना की गई थी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!