हाईप्रोफाइल अकाउंट हैक को लेकर सरकार ने ट्विटर को जारी किया नोटिस

सरकार ने ट्विटर से हाल में हुए हाईप्रोफाइल यूजर्स को टारगेट करने वाले ग्लोबल हैक पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है

Published18 Jul 2020, 02:30 PM IST
भारत
2 min read

भारत की साइबर सिक्योरिटी पर नोडल एजेंसी इंडियन कंप्यूटर्स इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम (CERT-In) ने सोशल मीडिया कंपनी ट्विटर को नोटिस जारी किया है और हाल में हुए हाईप्रोफाइल यूजर्स को टारगेट करने वाले ग्लोबल हैक पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. इकनॉमिक टाइम्स के सूत्र के मुताबिक भारत की नोडल एजेंसी ने जिन भारतीय यूजर्स इससे प्रभावित हुए हैं उनके बारे में ट्विटर से इसकी पूरी जानकारी मांगी है.

इस मामले से जुड़े हुए सूत्र ने बिजनेस अखबार इकनॉमिक टाइम्स को बताया कि CERT ने ट्विटर को ये भी कहा है कि वो जानकारी दे कि भारत के कितने यूजर्स ने मैलेशियस ट्वीट और लिंक को खोला है. ट्विटर ये भी बताए कि क्या उसने इन यूजर्स को उनके अकाउंट की अनाधिकृत पहुंच के बारे में बताया है या नहीं.

सरकार ने ये भी मांग की है कि वो इन अटैकर्स के काम करने के तरीके और इसके बाद ट्विटर के इस हैकिंग से आगे बचने के जवाबी कदमों के बारे में बताएं. ट्विटर ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

इंडियन कंप्यूटर्स इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम (CERT-In) ने ये कदम उन रिपोर्ट्स के आने के बाद उठाया है जिसमें बताया गया था कि हैकर्स ने ट्विटर सिस्टम तक पहुंच बना ली है, जिससे वो ग्लोबल कॉरपोरेट लीडर्स, राजनेताओं, सेलेब्स और कारोबारों के अकाउंट हैक कर सकते हैं.

साइबर अटैकर्स ने दुनियाभर के हाईप्रोफाइल यूजर्स जैसे बराक ओबामा, जेफ बेजोस, एलॉन मस्क, बिल गेट्स जैसे लोगों के अकाउंट हैक कर लिए थे. हैकर इनके अकाउंट्स को हैक करके बिटक्वाइन मांग रहे हैं.

ट्विटर ने जारी की थी सफाई

ट्विटर की तरफ से भी बयान जारी कर कहा गया है कि हम चेक कर रहे हैं कि कैसे इस तरह की घटना हुई, हम इसकी जांच कर रहे हैं और जल्द ही ट्टिटर की तरफ से इस बारे में अपडेट दिया जाएगा.

ट्विटर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जिस पर माइक्रो ब्लॉगिंग की जाती है. आजकल देश और दुनिया में ज्यादातर जानकारी इसी ट्विटर प्लेटफॉर्म से दी जाती है. सरकारें, सेलेब्स, स्टार्स हर कोई ट्विटर कोई न्यूज ब्रेक करने का माध्यम बनाता है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!