कोरोनावायरस के खिलाफ ‘जनता कर्फ्यू’,क्या है देश के राज्यों का हाल?

कोरोनावायरस के खिलाफ ‘जनता कर्फ्यू’,क्या है देश के राज्यों का हाल?

भारत

देश भर में जनता कर्फ्यू के दौरान सड़कों पर सन्नाटा पसरा है. कोरोनावायरस के कहर से बचने के उपायों के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर सुबह सात बजे से देशभर में जनता कर्फ्यू लगा हुआ है, जिसके कारण लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते गुरूवार को देशवासियों को संबोधित करते हुए रविवार को सात बजे से लेकर रात नौ बजे तक जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की थी.

Loading...
जनता कर्फ्यू के दौरान दिल्ली-एनसीआर में दूध, दवाई जैसी जरूरी चीजों की दुकानें जगह-जगह खुली हुई हैं, लेकिन सड़कों के किनारे पटरियों पर सब्जी की दुकानें कहीं नहीं सजी हैं.

दिल्ली का हाल

जनता कर्फ्यू के दौरान दिल्ली मेट्रो, रेलसेवा समेत सभी सार्वजनिक परिवहन सेवा बंद है, लेकिन चिकित्सा सेवा, अग्निशमन सेवा समेत अन्य आवश्यक सेवाएं उपलब्ध हैं. एक दिन पहले, शनिवार को भी सड़कों पर वाहनों की तादाद बहुत कम थी और सब्जियों, दूध, दवाई जैसी आवश्यक वस्तुओं को छोड़ अन्य वस्तुओं की ज्यादातर दुकानें बंद थीं.

उत्तर प्रदेश का हाल?

नोएडा की सड़कों पर जहां देर रात तक लोगों की आवाजाही आमतौर पर बनी रहती हैं, वहां शनिवार की रात से ही सन्नाटा पसरा हुआ है.

लखनऊ में भी सन्नाटा

लखनऊ सहित तमाम शहरों में रविवार सुबह सात बजे से जनता कर्फ्यू शुरू हो गया और सड़कों पर सन्नाटा पसरा दिखा. राजधानी लखनऊ में आमतौर पर व्यस्त रहने वाले हजरतगंज, आलमबाग, गोमती नगर, अलीगंज और अमीनाबाद जैसे इलाकों में दुकानें पूरी तरह बंद रहीं और सड़कों पर सिवाय पुलिस बलों के वाहनों के अन्य वाहन नजर नहीं आय.

गोरखपुर, रायबरेली, आजमगढ़, गोंडा, बहराइच, कानपुर, बरेली और झांसी सहित तमाम जिलों से मिल रही खबरों के मुताबिक जनता कर्फ्यू का पूरा असर है और लोग अपने घरों में ही बंद हैं. सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है. दुकानें और बाजार पूरी तरह बंद है. सिनेमाघर, कैफे, रेस्तरां और बार जैसी जगहों को बंद करने के आदेश सरकार ने पहले ही दे दिए थे.

जम्मू-कश्मीर में भी खामोशी

जम्मू-कश्मीर की सड़कों पर भी लोग ना के बराबर नजर आए, जनता कर्फ्यू के दौरान लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी गई है. कोरोनावायरस महामारी को देखते हुए सरकार ने 24 मार्च को सभी दफ्तरों में छुट्टी की घोषणा की है, 23 और 25 मार्च को छुट्टियां हैं. जरूरी सेवाएं बिना किसी रूकावट के जारी रहेंगी.

हिमाचल का क्या है हाल?

कर्फ्यू के दौरान हिमाचल प्रदेश में भी लोग घरों में ही रहे. सडकें और दुकानें हर जगह सन्नाटा पसरा दिखा.

महाराष्ट्र में क्या है माहौल?

कोरोनावायरस का सबसे ज्यादा असर महाराष्ट्र में ही है. वहां 2 लोगों की मौत हो गई है और 70 से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमति हैं. कर्फ्यू के दौरान यहां की सड़कें सुनसान दिखीं.

ये भी पढ़ें- कोरोनावायरस: देश में ‘जनता कर्फ्यू’, सड़कों पर सन्नाटा

मध्यप्रदेश के कई शहर बंद

मध्य प्रदेश में अधिकांश सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है, लोग घरों से नहीं निकल रहे हैं और परिवहन व्यवस्था पूरी तरह बंद है, वहीं आठ जिलों में लॉकडाउन किया गया है. प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान का लोगों ने भरपूर समर्थन किया है. राजधानी के बाजार, मॉल सहित सड़कों पर कर्फ्यू नजारा है. वाहनों की आवाजाही थमी हुई है, लोग सड़कों पर नजर नहीं आ रहे हैं. महाराणा प्रताप नगर से लेकर न्यू मार्केट, बिट्टन मार्केट सहित प्रमुख बाजार पूरी तरह बंद है.

ये भी पढ़ें- 31 मार्च तक पैसेंजर ट्रेन बंद, कोरोनावायरस के कारण रेलवे का फैसला

झारखंड में भी वीरानी

झारखंड के सभी 24 जिलों में ‘जनता कर्फ्यू’ का पालन हुआ और गांव हों या शहर, सभी जगह रेलवे स्टेशन, बस अड्डे, चौक-चौराहे और धार्मिक स्थलों पर पूरी तरह से वीरानी छायी रही. राजधानी रांची में देर रात 12 बजे के बाद से ही लोगों ने खुद को घरों में कैद कर लिया और घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं और न ही अपने बच्चों को घरों से बाहर जाने दे रहे हैं. झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने प्रधानमंत्री की इस पहल का स्वागत किया और कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ इस लड़ाई में कोई पक्ष और विपक्ष नहीं है, इस लड़ाई में सभी एक साथ हैं.

असम में लोग घरों में, दुकानें बंद, सड़कें हैं सुनसान

असम में करोड़ों लोगों के अपने घरों से नहीं निकलने के साथ ही शहर के बाजार बंद रहे और सड़कों से वाहन नदारद रहे. 14 घंटे का स्वैच्छिक कर्फ्यू सुबह सात बजे से लागू हुआ, लेकिन राज्य के लोगों ने शनिवार रात से ही घर से बाहर निकलना बंद कर दिया था.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our भारत section for more stories.

भारत
    Loading...