मध्य प्रदेश: सरकारी टीचर ने खुले में किया शौच तो हो गया सस्पेंड
प्रतीकात्मक चित्र 
प्रतीकात्मक चित्र  (फोटो: iStock)

मध्य प्रदेश: सरकारी टीचर ने खुले में किया शौच तो हो गया सस्पेंड

मध्य प्रदेश के अशोक नगर में एक स्कूल टीचर को इसलिए सस्पेंड कर दिया गया क्योंकि वो खुले में शौच कर रहा था. ये मामला बुढेरा का है जहां पर सरकारी स्कूल में असिस्टेंट टीचर महेंद्र सिंह यादव ने खुले में शौच किया तो इलाके के डीईओ ने उन्हें सस्पेंड कर दिया.

देश में भ्रष्टाचार, कामचोरी, लापरवाही और रिश्वतखोरी के नाम पर तो कई सरकारी कर्मचारी सस्पेंड होते हैं लेकिन इस तरह का ये पहला ही मामला है.

डीईओ यानी जिला शिक्षा अधिकारी ने सस्पेंशन ऑर्डर में लिखा कि , “महेंद्र सिंह यादव ने घर में टॉयलेट होते हुए भी खुले में शौच करके सरकार के स्वच्छ भारत मिशन का उल्लंघन किया है”. बता दें कि ये सस्पेंशन ऑर्डर जिला कलेक्टर के निर्देश के बाद ही तैयार किया गया.

मामले पर राजनीति भी शुरू

इस मामले पर राजनीति भी अपने चरम पर है. राज्य की विपक्षी पार्टी कांग्रेस के मुताबिक जो अधिकारी इस तरह के ऑर्डर पास कर रहा है वो अपने राजनीतिक आकाओं को खुश करने के लिए ये सब कर रहा है. कांग्रेस प्रवक्त केके मिश्रा ने कहा...

ये बीजेपी के रूल में हो रहा है जिनका राष्ट्रीय अध्यक्ष अभी पिछले महीने ही भोपाल में उस घर में लंच करने गया, जिसमें टॉयलेट था ही नहीं. साथ ही राज्य सचिवालय जहां सीएम शिवराज सिंह चौहान बैठते हैं उसके पीछे जो बस्ती है वहां सभी लोग खुले में शौच करते हैं. ये सभी सरकार को खुश करने के लिए किया जा रहा है

साथ ही सामाजिक कार्यकर्ताओं ने भी इस फैसले को बहुत खराब बताते हुए कहा कि हमारे देश में शौच के मुद्दे पर लोगों को जागरुक करने की जरूरत है न कि उन्हें दंडित करने की.