रीवा में महात्मा गांधी का अस्थि कलश चोरी, लिखा- ‘राष्ट्र द्रोही’

पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है

Updated
भारत
2 min read

बीते 2 अक्टूबर को जहां एक तरफ सारी दुनिया महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रही थी. वहीं मध्यप्रदेश के रीवा में किसी अंजान शख्स ने महात्मा गांधी का अस्थि कलश चुरा लिया और उनके पोस्टर पर राष्ट्रद्रोही लिख दिया. ये घटना रीवा के लक्ष्मण बाग मंदिर की है. इसी मंदिर में एक बापू भवन है. बापू भवन के बाहर महात्मा गांधी का एक बड़ा पोस्टर लगाया गया था जिसपर ‘राष्ट्रद्रोही’ लिखा गया.

मामले की जानकारी मिलते ही स्थानीय लोगों में रोष फैल गया. स्थानीय कांग्रेस नेताओं ने इस हरकत पर नाराजगी जताई है. कांग्रेस पार्टी के रीवा जिलाध्यक्ष गुरमीत सिंह मांगू ने पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज कराई है. मांगू ने ये भी कहा है कि मौके से गांधीजी का अस्थि कलश भी चुराया गया है. कार्यकर्ताओं ने इसके पीछे बीजेपी से जुड़े लोगों का हाथ होने की आशंका जताई है और कहा है कि जो लोग गोडसे की विचारधारा को बढ़ावा देते हैं वही ये हरकत कर सकते हैं. पुलिस ने इस मामले में शिकायत दर्ज कर ली है और जांच शुरू कर दी है.

‘‘लक्ष्मण बाग मंदिर में कुछ लोग गांधी जी की फोटो पर फूलमाला चढ़ाने गए थे. वहीं लोगों ने देखा कि पेंट से कुछ आपत्तिजनक लिखा हुआ है. इस मामले में हमने जन भावनाएं आहत करने की एफआईआर दर्ज की है. इस मामले में जांच जारी है. जहां तक कलश की बात है तो बता दें कि वहां मौजूद लोगों ने कहा कि कोई कलश वहां रखा हुआ था जो अब नहीं है. कलश के संबंध में कोई औपचारिक शिकायत नहीं की गई है. अगर होती है तो हम जांच करेंगे.’’
आबिद खान (एसपी, रीवा)

बता दें कि इस मामले में आईपीसी के सेक्शन 153(बी), 504 और 505 के तहत जानबूझ कर शांति भंग करने और भावना आहत करने का केस दर्ज हुआ है.

गांधीजी के परपोते ने दी प्रतिक्रिया

रीवा में महात्मा गांधी का अस्थि कलश चोरी, लिखा- ‘राष्ट्र द्रोही’
(फोटो: फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट)

महात्मा गांधी के परपोते तुषार अरुण गांधी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर अपनी आपत्ति जाहिर की. तुषार ने लिखा, ‘‘अभी-अभी खबर मिली है कि किसी ने रीवा के गांधी भवन से मेरे परदादा का अस्थि कलश चुरा लिया है. उन्होंने उनके (गांधीजी) फोटो पर राष्ट्रद्रोही भी लिखा है. काश वो राष्ट्रपिता न होते, काश वो महात्मा न होते. काश वो सिर्फ मेरे परदादा होते.’’

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!