वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने की सट्टा को लीगल करने की वकालत

वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सट्टा को लीगल किए जाने के पक्ष में बातें कहीं हैं

Published
भारत
2 min read
 वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर
i

हिमाचल के कद्दावर बीजेपी नेता और वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सट्टा को लीगल किए जाने के पक्ष में बातें कहीं हैं. अनुराग ठाकुर ने ICICI सिक्योरिटीज के एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा है कि सट्टेबाजी दुनिया के कई देशों जैसे की ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड में लीगल है. ये सारे देश सट्टेबाजी से जो पैसा कमाते हैं उसे खेल को बढ़ावा देने पर ही खर्च करते हैं.

बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष भी रह चुके अनुराग ठाकुर ने कहा कि-

सट्टेबाजी के जरिए हम मैच फिक्सिंग पर लगाम लगा सकते हैं. इसलिए हमें इसकी (सट्टेबाजी को लीगल किए जाने की) संभावनाओं के बारे में सोचना चाहिए. अगर कोई सिस्टम तैयार होता है तो हम उसके जरिए मैच फिक्सिंग की भी देखरेख कर पाएंगे.
अनुराग ठाकुर, वित्त राज्य मंत्री

शर्त लगाना और जुआ खेलना कानूनी रूप से मान्य नहीं

शर्त लगाना और जुआ खेलना कानूनी रूप से मान्य नहीं है, लेकिन इसका बहुत बड़ा अंडरग्राउंड मार्केट है. एक रिपोर्ट के मुताबिक ये करीब 6000 करोड़ डॉलर का मार्केट है. इसको कानूनी रूप दिए जाने की लंबे वक्त से मांग उठती रही हैं.

शर्तों के साथ ही दी जा सकती है इजाजत

लॉ कमीशन ने 2018 में ‘Legal Framework: Gambling and Sports Betting including in Cricket in India’ नाम से अपनी रिपोर्ट सबमिट की थी जिसमें बताया गया था कि अगर हम गैरकानूनी तरीके से खेले जा रहे है जुएं और सट्टे को नहीं रोक पा रहे हैं तो हमारे पास इसे लीगल बनाना ही एक आसान ऑप्शन बचता है. इसी कमीशन की रिपोर्ट में सट्टेबाजी को लीगल किए जाने के लिए संभावित नियमों/शर्तों की बात की गई है. शर्तों के साथ ही इसे लीगल किए जाने की वकालत की गई है.

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!