ADVERTISEMENT

वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने की सट्टा को लीगल करने की वकालत

वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सट्टा को लीगल किए जाने के पक्ष में बातें कहीं हैं

Published
भारत
2 min read
 वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर
i

हिमाचल के कद्दावर बीजेपी नेता और वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सट्टा को लीगल किए जाने के पक्ष में बातें कहीं हैं. अनुराग ठाकुर ने ICICI सिक्योरिटीज के एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा है कि सट्टेबाजी दुनिया के कई देशों जैसे की ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड में लीगल है. ये सारे देश सट्टेबाजी से जो पैसा कमाते हैं उसे खेल को बढ़ावा देने पर ही खर्च करते हैं.

बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष भी रह चुके अनुराग ठाकुर ने कहा कि-

सट्टेबाजी के जरिए हम मैच फिक्सिंग पर लगाम लगा सकते हैं. इसलिए हमें इसकी (सट्टेबाजी को लीगल किए जाने की) संभावनाओं के बारे में सोचना चाहिए. अगर कोई सिस्टम तैयार होता है तो हम उसके जरिए मैच फिक्सिंग की भी देखरेख कर पाएंगे.
अनुराग ठाकुर, वित्त राज्य मंत्री
ADVERTISEMENT

शर्त लगाना और जुआ खेलना कानूनी रूप से मान्य नहीं

शर्त लगाना और जुआ खेलना कानूनी रूप से मान्य नहीं है, लेकिन इसका बहुत बड़ा अंडरग्राउंड मार्केट है. एक रिपोर्ट के मुताबिक ये करीब 6000 करोड़ डॉलर का मार्केट है. इसको कानूनी रूप दिए जाने की लंबे वक्त से मांग उठती रही हैं.

शर्तों के साथ ही दी जा सकती है इजाजत

लॉ कमीशन ने 2018 में ‘Legal Framework: Gambling and Sports Betting including in Cricket in India’ नाम से अपनी रिपोर्ट सबमिट की थी जिसमें बताया गया था कि अगर हम गैरकानूनी तरीके से खेले जा रहे है जुएं और सट्टे को नहीं रोक पा रहे हैं तो हमारे पास इसे लीगल बनाना ही एक आसान ऑप्शन बचता है. इसी कमीशन की रिपोर्ट में सट्टेबाजी को लीगल किए जाने के लिए संभावित नियमों/शर्तों की बात की गई है. शर्तों के साथ ही इसे लीगल किए जाने की वकालत की गई है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT