ADVERTISEMENT

6 महीने से केंद्र ने नहीं किया काम,इसलिए कोरोना में फंसा भारत:ममता

केंद्रीय मंत्रियों ने 6 महीने में सिवाए बंगाल आने और सत्ता पर कब्जा करने की कोशिश के अलावा कोई काम नहीं किया: ममता

Updated
भारत
2 min read
ममता बनर्जी और नरेंद्र मोदी
i

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को केंद्र सरकार पर देश को कोरोना की तबाही तक धकेलने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के मंत्रियों ने पिछले 6 महीने में महामारी से निपटने के लिए कोई काम नहीं किया. इस दौरान यह लोग बस नियमित तौर पर बंगाल आते रहे, ताकि सत्ता पर कब्जा कर सकें. इसलिए आज देश कोविड संकट में घिर चुका है.

ममता बनर्जी ने बीजेपी पर अपनी हार से बौखलाकर हिंसा का आरोप भी लगाया. उन्होंने यह बातें शनिवार को विधानसभा में स्पीकर के चुनाव के बाद कहीं.

77 सीटें जीतकर मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी ने बंगाल में हुई हिंसा के खिलाफ स्पीकर के चुनाव का बॉयकॉट किया था. टीएमसी के विधायक बिमन बंदोपाध्याय को लगातार तीसरी बार स्पीकर चुना गया है.

पश्चिम बंगाल में कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, शनिवार को राज्य में 127 लोगों की कोरोना से मौत हुई, वहीं 19436 नए मामले सामने आए हैं.

चुनाव आयोग में किया जाए आपात सुधार : ममता बनर्जी

ममता बनर्जी ने बीजेपी द्वारा चुनाव में बड़ी मात्रा में पैसे खर्च करने का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग में आपात सुधार की मांग भी की.

ममता बनर्जी ने कहा, "चुनाव आयोग में तुरंत सुधार किए जाने की जरूरत है. बीजेपी ने अपने नेताओं के लिए कई होटल बुक किए, इनमें केंद्र और दूसरे राज्यों के नेता शामिल थे. मैं नहीं जानती कि प्लेन और होटल में कितना पैसा खर्च किया गया. यहां पानी की तरह पैसा बहाया जा रहा था. अगर वे लोग इसकी जगह वैक्सीन देते, तो राज्य के लिए बेहतर होता."

पश्चिम बंगाल में हाल ही में विधानसभा चुनाव संपन्न हुए हैं. इनमें 213 सीटों पर तृणमूल कांग्रेस को जीत मिली है. वहीं 77 सीटों पर बीजेपी विजयी रही है. 294 सीटों वाली विधानसभा में 2 सीटों पर प्रत्याशियों के निधन के चलते वोटिंग नहीं हुई थी.

पढ़ें ये भी: मुंबई मॉडल के आधार पर कोरोना की दूसरी लहर से निपटेगा बेंगलुरु

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT