हमसे जुड़ें
ADVERTISEMENTREMOVE AD

ट्रेन में जबरन धार्मिक नारे लगवाने का आरोप लगाया था, अब उसी पर छेड़छाड़ का केस

Uttar Pradesh: पिटाई के आरोप में दो आरोपियों को बरेली स्टेशन पर हिरासत में लिया गया था.

Published
भारत
2 min read
ट्रेन में जबरन धार्मिक नारे लगवाने का आरोप लगाया था, अब उसी पर छेड़छाड़ का केस
i
Hindi Female
listen

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

दिल्ली से प्रतापगढ़ (Pratapgarh) जाने वाली पद्मावत एक्सप्रेस (Padmavat Express) में कुछ दिनों पहले एक मुस्लिम शख्स की पिटाई (Muslim man beaten in train) का मामला सामने आया था. आरोप था कि चोरी के शक में कुछ लोगों ने उसे पीटा और 'जय श्रीराम' के नारे लगाने को कहा. अब इस केस में नया मोड़ आ गया. एक महिला ने तथाकथित पीड़ित शख्स पर छेड़खानी का आरोप लगाया है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

"छेड़छाड़ की वजह से पिटाई हुई थी"- एसपी

जीआरपी मुरादाबाद एसपी अपर्णा गुप्ता ने कहा कि एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक व्यक्ति के साथ मारपीट की गई थी. उसमें सीओ साहब द्वारा जांच की गई थी, जिसमें ये आया था कि व्यक्ति ने एक लड़की के साथ छेड़छाड़ की, जिसके बाद वहां मौजूद लोग उग्र हो गए और उसकी पिटाई कर दी.

वह लड़की उस वक्त वहां नहीं थी. हमारे द्वारा उस लड़की को ढूंढ़ने का प्रयास किया जा रहा था. आज वह पीड़िता सामने आई और एफआईआर दर्ज करवाई है. पीड़िता ने उसके साथ हुए छेड़छाड़ का जिक्र किया है.

पीड़ित युवती अपने भाई के साथ सफर कर रही थी, आरोपी व्यक्ति ने लड़की को अपने पास बैठा लिया और छेड़छाड़ करने लगा. इस वक्त उसका भाई दूर था लेकिन पास में बैठे दो लड़कों ने देखा, जिसके बाद मारपीट शुरू हुई. हमारे पास तहरीर दी गई है, जिसके बाद जीआरपी थाना मुरादाबाद द्वारा 354 का मुकदमा दर्ज किया गया है.
अपर्णा गुप्ता, एसपी, जीआरपी मुरादाबाद

उन्होंने कहा कि जांच में धार्मिक नारे जैसी कोई नहीं पाई गई. हमने पीड़िता से पूछा, इसके अलावा और लोगों से भी बात हुई है, जिसके बाद पता चला कि धार्मिक नारे जैसी कोई बात नहीं हुई थी, केवल छेड़खानी की वजह से ही उसकी पिटाई हुई थी.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

व्यक्ति ने किया था कुछ और दावा

लड़की के सामने आने से पहले तथाकथित पीड़ित व्यक्ति ने कहा था कि वह दिल्ली से मुरादाबाद के लिए पद्मावत ट्रेन में चढ़ा था. हापुड़ में कुछ लोग ट्रेन में चढ़े. ट्रेन में भीड़ बहुत थी. 8-10 लोगों ने धक्कामुक्की शुरू कर दी. उसी दौरान एक आदमी ने पीछे से कुछ अपशब्द बोले. इसके बाद लोगों ने मारना शुरू कर दिया.

लोगों ने मेरी दाढ़ी खींची और जय श्रीराम के नारे भी लगाने को कहा. मैंने 'जय श्रीराम' का नारा लगाने से मना कर दिया, जिसके बाद उन्होंने मेरे कपड़े उतार दिए और खूब मारा. आरोपियों ने मेरे 2,200 रुपए भी छीन लिए थे.

इस मामले में दो आरोपियों को बरेली स्टेशन से हिरासत में लिया गया था.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
और खबरें
×
×