ADVERTISEMENT

बुल्ली बाई: आरोपी विशाल झा के पिता बोले- 'पैसों की जरूरत होने पर ही कॉल करता था'

Bulli Bai मामले में गिरफ्तार विशाल झा के पिता ने क्विंट से कहा- "वह निर्दोष है, उसने कभी ऐसा कुछ नहीं किया"

Published
बुल्ली बाई: आरोपी विशाल झा के पिता बोले- 'पैसों की जरूरत होने पर ही कॉल करता था'
i

बुल्ली बाई ऐप (Bulli Bai) मामले में 4 जनवरी को गिरफ्तार 21 वर्षीय विशाल कुमार झा (Vishal Kumar Jha) अपनी गिरफ्तारी से पहले महीनों तक अपने परिवार से अलग रहा था. अकेला रहने वाला और मुख्य रूप से सोशल मीडिया पर दोस्तों से जुड़े रहने वाले विशाल के पास अब अपने कानूनी खर्चों को पूरा करने के पैसे नहीं हैं.

ADVERTISEMENT

द क्विंट से बात करते हुए, उसके पिता सुधीर कुमार झा ने कहा, "वह निर्दोष है. उसने कभी ऐसा कुछ नहीं किया जिसका उन पर आरोप लगाया जा रहा है." बिहार के पटना में रहने वाले सुधीर झा भारतीय रेलवे में टिकट चेकर हैं. उन्होंने आगे कहा, "मेरा बेटा किसी तरह फंस गया था. हमें नहीं पता कि ये कैसे हो गया."

अब परिवार विशाल के कानूनी खर्चों को पूरा करने के लिए 2 लाख रुपये का इंतजाम करने के लिए संघर्ष कर रहा है.

मिलनसार लड़के से खुद में रहने वाले जवान तक

21 वर्षीय विशाल बेंगलुरु स्थित दयानंद सागर कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के सिविल इंजीनियरिंग का सेकेंड ईयर स्टूडेंट है. उनकी एक बड़ी बहन है जो एक मल्टी नेशनल कंपनी में काम करती है. मुंबई पुलिस के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि, "परिवार सदमे में है, लेकिन हमारे पास इस मामले में पुख्ता सबूत हैं."

विशाल झा पर IPC की धारा 153 (A) के तहत 'धार्मिक समूहों के बीच दुश्मनी पैदा करने', 153 (B) के तहत 'राष्ट्रीय एकता के लिए पूर्वाग्रह', 295 (A) के तहत 'धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए जानबूझकर दुर्भावनापूर्ण कार्य', 354(D) के तहत 'पीछा करना', 'गरिमा का अपमान' के लिए 509 और 'मानहानि' के लिए 500 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

इसके अलावा आईटी अधिनियम की धारा 67 के तहत भी मामला दर्ज है, जो 'इलेक्ट्रॉनिक रूप में अश्लील कंटेंट प्रसारित करना' से संबंधित है.

GitHub पर तैयार बुल्ली बाई ऐप में बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें 'नीलामी' के लिए अपलोड की गईं थी. इस मामले में सबसे पहले विशाल को गिरफ्तार किया गया था.

जब वह पटना में अपनी स्कूली पढ़ाई कर रहा था, तब विशाल एक होनहार छात्र था. "कई बच्चे हमेशा उसके साथ घूमते रहते थे," उसके पिता ने कहा. हालांकि, जब वह अपने हायर स्टडी के लिए बेंगलुरु पहुंचा, तो उसका मिलनसार स्वभाव बदल गया.

विशाल ने महीनों तक फोन पर परिवार के साथ मुश्किल से ही कोई संपर्क बनाए रखा. पिता सुधीर झा ने बताया कि "वह हमेशा बिजी रहता था और पैसे की जरूरत होने पर ही घर कॉल करता था."

मुंबई पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि उसके दूर होने का कारण "एकग्रुप" हो सकता है, जिससे वह ऑनलाइन जुड़ गया था.

ADVERTISEMENT

‘ग्रुप जिसका विशाल हिस्सा था'

मुंबई पुलिस अधिकारी के अनुसार, विशाल झा एक ऐसे ग्रुप का हिस्सा था, जो लगातार अपमानजनक बयान, भद्दे कमेंट और तस्वीरें शेयर करता था. "यह स्पष्ट है कि मामले में अब तक गिरफ्तार किए गए चारों आरोपी इस ग्रुप से जुड़े हुए हैं."

बुल्ली बाई मामले में मुंबई पुलिस ने जहां विशाल झा, 21 वर्षीय मयंक रावत और 18 वर्षीय श्वेता सिंह को गिरफ्तार किया है, वहीं दिल्ली पुलिस ने 6 जनवरी को 21 वर्षीय नीरज बिश्नोई को गिरफ्तार किया है.

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें किसी ग्रुप में विशाल के शामिल होने की जानकारी थी, उसके पिता ने कहा- "नहीं, मुझे जानकारी नहीं थी. हमें कुछ भी पता नहीं था." जब विशाल अपने शहर गया तो वह हमेशा अपने फोन पर, चैटिंग करते हुए देखा जाता था. हालांकि, परिवार ने यह नहीं देखा था कि उसके ऑनलाइन दोस्त कौन थे.

विशाल ने जिस कॉलेज में पढ़ाई की, उसके अनुसार विशाल का कोई करीबी दोस्त नहीं था. उनकी 60% अटेंडेंस थी और वह परेशानी का कारण नहीं बनता था. कॉलेज ने उसके खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की है, क्योंकि कॉलेज के अधिकारी "मामले में तथ्यों को सामने लाने" के लिए मुंबई पुलिस की जांच की प्रतीक्षा कर रहे हैं.

इस बीच विशाल की गिरफ्तारी के बाद, एक ट्विटर यूजर ने उस पर कट्टर राइट विंग से जुड़े 'ट्रैड' होने का आरोप लगाया था. मुंबई पुलिस के अधिकारी ने कहा, "हम अभी भी सभी दावों की जांच कर रहे हैं." हालांकि अधिकारी ने पुष्टि की है कि परिवार का कोई राजनीतिक संबंध नहीं है. "जहां तक हमें समझ आया है, वो एक मध्यमवर्गीय परिवार है, जो इस बात से अनजान था कि उनके बेटे के जीवन में क्या हो रहा है."

सुधीर झा ने कहा कि गिरफ्तारी से परिवार काफी परेशान है. उसके तरफ से केस लड़ने के लिए उनके पास एक वकील है. उन्होंने दोहराया, ''असली दोषियों को सजा मिलनी चाहिए. विशाल ऐसा कभी नहीं कर सकता.'' विशाल अब पुलिस कस्टडी में है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×