IAF की कार्रवाई पर पाक का दावाः न कोई मरा,न तबाही हुई, आकर देख लो

डीजी आसिफ गफूर ने कहा, ‘21 मिनट पाकिस्तान के एयर स्पेस में रहकर दिखाए भारतीय वायुसेना’

Updated26 Feb 2019, 05:17 PM IST
दुनिया
3 min read

पाकिस्तान के डीजी इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशंस मेजर जनरल आसिफ गफूर ने बालाकोट में IAF की कार्रवाई पर प्रतिक्रिया दी है. गफूर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने एलओसी का उल्‍लंघन किया. उन्होंने दावा किया कि पाकिस्‍तानी वायुसेना ने बिना देरी किए, इसका जवाब दिया और भारतीय वायुसेना के विमान वापस चले गए.

भारतीय वायुसेना की कार्रवाई में बड़ी संख्या में आतंकियों की मौत के दावे पर डीजी गफूर ने कहा कि भारतीय या भारतीय सेना के लोग खुद यहां आकर देख लें और वापस जाकर अपने प्रधानमंत्री को हकीकत बताएं.

‘आकर देख लें, अपने पीएम को बताएं हकीकत’

भारतीय वायुसेना की कार्रवाई में 350 आतंकियों की मौत के दावे पर डीजी गफूर ने कहा, ‘'अगर मौसम खराब नहीं होता तो मैं आपको हवाई मार्ग से उस जगह पर लेकर जाता. वे दावा कर रहे हैं कि 350 आतंकी मारे गए, मैं कहता हूं कि 10 भी मारे गए तो उनकी बॉडी कहां गई, खून कहां गया, उनके जनाजों का क्‍या हुआ? यहां लोकल मीडिया है, किसी को कुछ नहीं मिला. वो जगह सभी के लिए खुली हुई है, किसी के लिए भी, एम्‍बेसडर, यूएन मिलिट्री ऑर्ब्‍जरवर…यहां तक कि भारत का कोई आम नागरिक या आर्मी का कोई भी शख्स ऑथराइज एंट्री लेकर यहां आ सकता है. खुद आकर देख लीजिए और वापस जाकर अपने प्रधानमंत्री को हकीकत बताइए’'.

‘21 मिनट पाकिस्तान के एयर स्पेस में रहकर दिखाए भारतीय वायुसेना’

डीजी गफूर ने भारत के उस दावे के साथ की, जिसमें कहा जा रहा है कि भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान 21 मिनट तक पाकिस्‍तानी एयर स्‍पेस में रहे और आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक की.

भारत के इस दावे पर डीजी गफूर ने कहा, ‘मैं ज्‍यादा बड़ी बात नहीं कहना चाहता, लेकिन मैं कहता हूं... आओ 21 मिनट पाकिस्‍तानी एयरस्‍पेस में रहकर दिखाओ.’

उन्‍होंने कहा, '‘वे (भारतीय वायुसेना) हमारे रडार की जद में थे. वे बॉर्डर के करीब तक आए, लेकिन क्रॉस नहीं कर पाए. सबसे पहले भारतीय वायुसेना की हलचल लाहौर के पास सियालकोट में ट्रेस की गई. वे हमारे बॉर्डर की ओर आगे बढ़ रहे थे. हमारी कॉम्‍बेट एयर पेट्रोल टीम ने तुरंत चुनौती दी और भारतीय वायुसेना बॉर्डर क्रॉस नहीं कर सकी.''

डीजी गफूर ने मोदी सरकार पर लगाए आरोप

डीजी गफूर ने कहा कि भारतीय सेना अगर सीजफायर भी करती है, तो जानबूझकर पाकिस्तानी नागरिकों को निशाना बनाती है. उन्होंने कहा कि अगर उनकी स्ट्राइक हमारी आर्मी की पोस्ट पर होती तो जवानों की शहादत होती और उनका मकसद पूरा नहीं होता.

गफूर ने कहा कि मोदी सरकार का एक ही मकसद था कि वो किसी ऐसी जगह पर टारगेट करें, जहां नागरिकों की जान जाए और वो ये दावा कर सकें कि उन्होंने आतंकी शिविरों पर हमला किया. गफूर ने आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार ने चुनावी फायदे के लिए ऐसा किया.

'हम भारत को चौंकाएंगे, लेकिन हमारे चौंकाने का तरीका अलग होगा'

डीजी आसिफ गफूर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में चेतावनी देते हुए कहा है, "हम भारत को चौकाएंगे, लेकिन हमारे चौंकाने का तरीका अलग होगा. आप खुद देखना. इंतजार करो."

इंडियन एयरफोर्स ने JeM के सबसे बड़े शिविर को उड़ाया

आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के 12 दिनों बाद भारत ने मंगलवार तड़के पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमला किया.

इस हवाई हमले में 'बड़ी संख्या में' आतंकवादी और उनके प्रशिक्षक मारे गए हैं. इसके कुछ घंटे के भीतर पाकिस्तान ने मुहंतोड़ जवाब देने की धमकी दी है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 26 Feb 2019, 05:16 PM IST
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!